एक तरफ पिता का हो रहा था अंतिम संस्कार तो दूसरी ओर जानिए क्या कर रहे थे सीएम योगी

89 साल की उम्र में सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद बिष्ट का दिल्ली में एम्स अस्पताल में निधन हो गया है. उनकी तबियत पिछले कई दिनों से ठीक नही थी जिसके चलते वह दिल्ली के एम्स में भर्ती थे. सोमवार 20 अप्रैल को 10:45 मिनट के आसपास उन्होंने अंतिम सांस लेकर इस दुनिया को अलविदा कह दिया. सीएम योगी के पिता को किडनी और लीवर में समस्या थी. जिसके चलते वह 13 मार्च से एम्स में भर्ती थे.

जानकारी के लिए बता दें सीएम योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट के निधन के बाद सूबे में शोक की लहर है. गोरखपुर में गोरक्षनाथ मंदिर और महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद् ने एक दुःख जताया है. वहीँ सीएम योगी ने भी पिता के निधन की जानकारी मिलने के बाद अपनी मां को भावुक पत्र लिख श्रद्धांजलि अर्पित की थी और कोरोना के चलते अंतिम संस्कार में शामिल नही होने की बात कही थी.

21 अप्रैल एक तरफ को जब सीएम योगी के पिता का उनके पैतृक गाँव में अंतिम संस्कार हो रहा था तो वहीँ दूसरी ओर उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ जो कर रहे थे तो कोई सोच नहीं सकता. जी हाँ 21 अप्रैल को मुख्यमंत्री आवास पर शोक सभा आयोजित की गयी. जिसके बाद वह कोरोना वायरस के संक्रमण पर अंकुश लगाने के प्रयास के चलते हर दिन की तरफ अपने आवास पर टीम के साथ मीटिंग करने पहुंचे.

गौरतलब है कि बैठक से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ सभी वरिष्ठ अधिकारियों ने उनके पिता स्वर्गीय आनंद सिंह बिष्ट की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा और फिर श्रद्धांजलि देने के बाद मीटिंग शुरू की गयी. जिसके बाद उन्होंने मीटिंग में कोरोना की रोकथाम के लिए पूल टेस्टिंग प्लाज्मा थेरेपी को बढ़ावा देने की बात कही. उन्होंने निर्देश दिए कि प्रदेश में ऐसी व्यवस्था की जाए कि पुलिस और मेडिकल टीम संक्रमण से सुरक्षित रह सके. एक तरफ उनके पिता का अंतिम संस्कार हो रहा था वहीँ सीएम योगी अपने राज्य के लोगों की चिंता करते हुए मीटिंग कर रहे थे.