सीएम शिवराज सिंह चौहान ने राज्य में कोरोना से जान देने वाले सरकारी कर्मचारियों के परिवार को लेकर किया बड़ा ऐलान

देशभर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर जमकर हाहाकार मचा रही है. ऐसा कोई दिन नही जा रहा है पिछले काफ़ी समय से जब हज़ारों की संख्या में लोग अपनी जान न दे रहे हों वहीं लाखों की संख्या में लोग अब भी संक्रमित हो रहे हैं. भारत में कोरोना की दूसरी लहर इस तरह हाहाकार मचाएगी ऐसा किसी ने सोचा नही होगा. अब बड़े बड़े वैज्ञानिकों का यही कहना है कि सरकार और जनता दोनों ही कोरोना को लेकर लापरवाह हो गये थे.

जानकारी के लिए बता दें कोरोना वायरस की दूसरी लहर देश के अलग अलग हिस्सों में कई फ्रंट लाइन वर्कर्स और सरकारी कर्मचारियों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. ऐसे में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कोरोना से अपनी जान गंवाने वाले सरकारी कर्मचारियों को लेकर बड़ा ऐलान किया है.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि ”कोरनाकाल में अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए जो कर्मचारी नहीं रहे, उनके परिवार में पात्र दावेदार को इस योजना अंतर्गत 5 लाख अनुग्रह राशि प्रदान करने का राज्य सरकार ने फैसला किया है। इस योजना में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता,सहायिका,आशा कार्यकर्ता, इत्यादि सभी कर्मी सम्मिलित होंगे.”

गौरतलब है कि सीएम शिवराज सिंह ने कहा है कि कोरोना से जान गंवाने वाले लोगों के परिवार को सरकारी नौकरी और 5 लाख रूपये सरकार देगी. उन्होंने घोषणा करते हुए कहा है कि ‘मुख्यमंत्री #COVID19 अनुकंपा नियुक्ति योजना’ के अंतर्गत स्थायीकर्मियों, कार्यभारित एवं आकस्मिकता निधि से वेतन पाने वाले, दैनिक वेतन भोगी, तदर्थ, संविदा, कलेक्टर दर पर कार्यरत सेवक के परिवारों के सदस्य को उसी पद पर अनुकंपा नियुक्ति दी जायेगी.’ उन्होंने कहा है कि राज्य में फ्रंट लाइन वर्कर्स के जाने के बाद उनके परिवार की जिम्मेदारी हमारी है.