बिहार चुनाव से पहले सीएम नीतीश कुमार ने कैबिनेट मीटिंग में लिए कई बड़े फैसले

बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान अभी तक नही हुआ है. लेकिन कयास ये लगाये जा रहे हैं की अक्टूबर या नवम्बर में चुनाव की तारीख का ऐलान हो सकता है. चुनाव को देखते हुए केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकारों ने बिहार के लोगों को लुभाने के लिए तोहफे देने शुरू कर दिए हैं. पीएम मोदी ने कल 84 साल पुराना कोसी महासेतु का उद्घाटन कर के मिथिलांचल को इससे जोड़ दिया है. अब इस सिलसिले को आगे बढ़ाने का काम सीएम नीतीश कुमार कर रहे हैं.

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने भी बिहारवासियों के लिए सौगात का पिटारा खोल दिया हैं और वो एक के बाद एक बड़े फैसले ले रहें हैं. उन्होंने कैबिनेट मीटिंग में भी कई अहम एजें’डों पर मुहर लगाईं है. बिहार सरकार ने आं’गन’बा’ड़ी सेविका से लेकर विकास मित्रों तक को तोहफा दिया है. इतना ही नही नीतीश कुमार ने म’द’र’सा बोर्ड और संस्कृत बोर्ड के लिए भी कई बड़े ऐलान किये हैं.

मदर’सा बोर्ड, संस्कृत बोर्ड के शिक्षकों के वेतनमान में 15 फीसदी की वृ’द्धि की गई है. इनके अलावा ता’ली’मी म’र’क’ज, शिक्षा सेवक, रसोइया, किसान स’ला’ह’का’र, विकास मित्र के मानदेय में भी बढ़ोतरी की गई है. ता’ली’मी म’र’क’ज के मानदेय में एक हजार रूपए प्रतिमाह का इजाफा हुआ है. अब उन्हें 11 हजार रूपए प्रतिमाह दिया जाएगा. 

वहीं, मिड डे मील रसोइया के मानदेय में भी 150 रुपए प्रतिमाह बढ़ाया गया है. अब उन्हें 1650 रुपए हर महीने मानदेय दिया जाएगा. किसान सलाहकार के मानदेय में एक हजार रूपए प्रतिमाह का इजाफा हुआ है. अब उन्होंने 13 हजार रूपए मानदेय दिया जाएगा. इनके साथ विकास मित्रों के मानदेय में भी 1200 रूपये प्रतिमाह वृद्धि की जाएगी.

Related Articles