सीएम नीतीश ने 2017 में दो’स्त को दिया था व’चन, गाँव पहुँच कर पे’श की कृष्ण सुदामा की दो’स्ती की मि’साल

104

बिहार में विधानसभा चुनावो की तारी’खों का ऐला’न हो गया है और इसी वजह से अब चुनावो को देखते हुए CM नीतीश कुमार काफी ज्यादा का’मों में व्य’स्त हो गए है. वही दूसरी तरफ चुना’वो का सिल’सिला शुरू होते ही आरो’प प्रत्या’रोप का सिलसिला भी शुरू हो गया है.

हालाँकि प्रदेश के लिए अपने कार्य एक तरफ और दोस्त के साथ वर्षो की मित्रता एक तरफ. जिसे निभा’ने के लिए CM नीतीश कुमार अपने व्य’स्त कार्य से थोडा समय निकाल कर पूर्वी चम्पारण के बलवा गांव पहुंचे और मित्र दारोगा पाण्डेय के श्रा’द्धक’र्म में शामिल होकर उनकी आ’त्मा की शा’न्ति की प्रार्थ’ना की. जानकारी के लिए बता दें कि अपनी सेवा यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री 2007 में चकिया के मधुआहा पंचायत के बलवा गांव में रा’त्रि विश्रा’म किया था और सुबह में गांव भ्र’मण के दौरान वयो’वृ’द्ध स्वतं’त्रता सेना’नी दारोगा पाण्डेय से मुला’कात हो गयी. जिसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनकी बातों से का’फी प्रभा’वित हुए थे और तब उन्होंने दारोगा पाण्डेय घर जाकर ना’स्ता किया था. जिसके बाद से दोस्ती ग’हरी होती चली गई.

जिसके बाद नीतीश कुमार 2017 में भी अपने यात्रा के दौरान दारोगा पाण्डेय के घर गये थे और उस दौरान दारोगा पाण्डेय ने मुख्यमंत्री से व’चन लिया था कि उनके नि’धन पर वे श्रा’द्धक’र्म में ज’रुर भाग लेंगे. इतना ही नहीं  2017 में दिये वच’न को नि’भाने के लिए मुख्यमंत्री दारोगा पाण्डेय के घर शुक्रवार को पहुंचे और उनके अन्ति’म कार्य’क्रम श्रा’द्धक’र्म में हि’स्सा लिया. साथ ही उनके परिवार को आश्वा’सन दिया कि वो उनके हर सुख दुः’ख में सहयोग करेंगे. जिसके बाद दारोगा पाण्डेय के दत्तक पुत्र नागेश्वर पाण्डेय ने CM नीतीश कुमार के जाने के बाद बताया कि मुख्यमंत्री ने दारोगा पाण्डेय के नाम से गांव में एक अस्प’ताल के नि’र्माण की स्वी’कृति दी है. वहीं पीपरा के भाजपा विधायक श्यामबाबू यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने बलवा गांव आकर कृष्ण सुदामा की दोस्ती की मि’साल पेश की है. इसके लिए उन्होंने पीपरा विधानसभा क्षेत्र की ओर से मुख्यमंत्री के प्र’ति आ’भार ज’ताया है.