कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. कांग्रेस को एक के बाद एक बड़ा झटका लगता जा रहा है. मध्यप्रदेश के सियासी गलियारों में हलचल होना कम नहीं हो रही हैं. एमपी में कमलनाथ सरकार की मुश्किलें थमने बढ़ती जा रही हैं. लगातार विधायकों के गायब होने और संपर्क में न होने की खबरों के बीच सामने आया था कि कांग्रेस के सभी विधायक अब सीएम कमलनाथ के संपर्क में है लेकिन कांग्रेस के विधायक हरदीप सिंह डंग ने अपना इस्तीफा देकर कांग्रेस को बड़ा झटका दे दिया.

जानकारी के लिए बता दें हरदीप सिंह डंग उन्ही 4 विधायकों में से एक हैं जिनके बेंगलुरु में होने की खबर आई थी. हरदीप सिंह डंग ने इस्तीफा देते हुए अपना दर्द बयाँ कर कहा था कि उनकी सरकार में कोई सुनने वाला नहीं था और वह अपने क्षेत्र का विकास नहीं करवा पा रहे थे. जिसके चलते ही उन्होंने ये फैसला लिया है. अब उनके इस्तीफा देने के बाद कमलनाथ सरकार की नींद उड़ गयी है, अब वह सरकार गिरने के डर से बड़ा कदम उठाने जा रहे हैं.

मध्यप्रदेश में राज्यसभा चुनाव से पहले कमलनाथ को सरकार गिरने का डर सता रहा है. इसी बीच उन्होंने बड़ा फैसला लिया है. बताया जा रहा है कि कमलनाथ सरकार गिरने के डर से बागी विधायकों को मंत्री बनाकर कैबिनेट का विस्तार कर सकते हैं. संभावना जताई जा रही हैं कि शनिवार 7 मार्च को एमपी में कैबिनेट का विस्तार हो सकता है.

गौरतलब है कि विधायकों को मनाने में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता लगे हुए हैं. मध्यप्रदेश में इस समय कांग्रेस के पास बीजेपी से कुछ ही विधायक ज्यादा हैं. ऐसे में अगर कुछ विधायकों ने अपना पाला बदला तो सरकार गिर सकती है. मौजूदा हालात को देखते हुए कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने पूरी कमान अपने हाथ में ले ली है. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस का पहला काम अपने विधायकों के बीच विश्वास बनाये रखना है.