महागठबंधन में तेजस्वी यादव के सीएम उम्मीदवारी को लेकर शुरू हुआ वि’रो’ध, कांग्रेस ने कहा अभी तक कुछ तय नहीं

94

बिहार में कोरोना वायरस के सं’क्र’म’ण को देखते हुए चुनाव आयोग ने कई शर्तों के साथ चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है. बिहार विधानसभा के चुनाव को तीन चरणों में करवाने का फैसला लिया है. बिहार चुनाव का परिणाम 10 नवम्बर को घोषित किया जायेगा. दूसरी तरफ सत्ता और विपक्ष के बीच नो’कझों’क जारी है. वहीँ सत्ता धारी पार्टी को चुनाव में टक्कर देने के लिए विपक्ष एकजुट होने के लिए महागठबंधन के तहत चुनाव लड़ने की योजना बना रहें है.

लेकिन इस बीच आरजेडी द्वारा पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव  को सीएम उम्मीदवार घोषित करने का वि’रो’ध भी शुरू हो गया है. महागठबंधन में शामिल कांग्रेस का कहना है कि महागठबंधन के मुख्यमंत्री चेहरे पर फैसला अभी तक नहीं लिया गया है. वहीँ महागठबंधन से अलग होने के विचार पर उपेन्द्र कुशवाहा ने गुरुवार को कहा कि ‘कांग्रेस राजद के नेतृत्व वाले महागठबंधन में ‘तेजस्वी यादव के नेतृत्व को स्वीकार नहीं करेगी’. कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन में शामिल होने या न होने के सारे विकल्प उनके पास खुले हैं’. हालांकि आरएलएसपी विधानसभा चुनावों में सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है’.

महागठबंधन में अभी कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है. महागठबंधन में सीट शेयरिंग को लेकर बवाल जारी रहता हैं. वामदल पहले ही महागठबंधन सीट बंटवारे को लेकर चेतवानी दे चुकी हैं. वहीँ कल कांग्रेस ने भी एक बड़ा बयान दिया है. उसने कहा है की अगर आरजेडी से बात नही बनी तो कांग्रेस बिहार विधानसभा की सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है.