भारत के स’ख्त रुख के बाद बैकफुट पर आया नेपाल, अब भारत के साथ रिश्ते सुधारने के लिए…

162

भारत और नेपाल बीच सीमा वि’वाद को लेकर त’नाव बना हुआ है. एक तरफ नेपाल ने भारत के क्षेत्र वाली जगहों को अपने नक़्शे’ में शामिल कर लिया है और उन पर अपना ह’क़ जता रहा है. वही दूसरी तरफ चीन की तरह बात चीत कर मस’ले को हल करने की बात कर रहा है.

दरअसल एक महीने से नेपाल और भारत के बीच सड़क निर्माण को लेकर काफी ज्यादा तना’व बना हुआ है. उसके बाद भी भारत के अपी’ल करने के बाद भी नेपाल ने भारत के हिस्से वाले क्षेत्र को अपने नए न’क़्शे में शामिल कर लिया. जिसके बाद अब नेपाल का कहना है कि वो विदेश सचिवों के बीच व’र्चुअल मीटिंग को भी तैयार है. इसके अलावा नेपाल सरकार ने यह भी कहा कि विदेश सचिव आमने-सामने या वर्चु’अल मीटिंग में कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा के मस’ले पर बात कर सकते हैं.

हालाँकि भारत की तरफ से बहुत पहले ही नेपाल को कहा गया था कि अभी कोरोना से जं’ग बीच इस म’सले पर कोरोना महामा’री से नि’पटने के बाद बातचीत करेंगे. जाहिर है नेपाल के न’क़्शे वाले कदम के बद से ही दोनों देशों के रिश्तों के बीच खटा’स पैदा हो गयी है. जिसके बाद भारत ने साफ़ कर दिया है कि वो अपनी सं’प्रभुता से समझौता नहीं करेगा.

गौरतलब है कोरोना का’ल के बीच में हाला’त काफी ज्यादा ख़राब हो चुके है. ऐसे में भारत ने नेपाल ही इस समय में भी मदद की है उसके बाद नेपाल भारत के साथ दु’श्मनी करने पर उ’तारू हो गया है.