लद्दाख में LAC के पास उड़ रहे चीनी ल’ड़ाकू विमान, भारत ने भी तैनात किया सुखोई

5813

लद्दाख में LAC पर सेना जमा करने के अलावा चीन ने LAC से सटे अपने सबसे नजदीकी एयरबेस पर ल’ड़ाकू विमान तैनात कर दिए हैं. LAC से करीब 100 किलोमीटर दूर होतों और गागुंसा बेस पर चीन ने अपने 10 से 12 ल’ड़ाकू विमान तैनात किये हैं और वो सीमाई इलाको में लगातार उड़ान भर रहे हैं. भारतीय सेना और एयरफ़ोर्स चीनी ल’ड़ाकू विमानों के मूवमेंट पर लगातार नज़र रखे हुए है और अलर्ट पर है. हालात बिलकुल 1962 की तरह है. फर्क सिर्फ ये है कि उस वक़्त भारत चीन के ह’मले के लिए तैयार नहीं था और इस बार भारत पूरी तरह से सतर्क और तैयार है. चीन के किसी भी दुस्साहस का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा.

अंतरराष्ट्रीय नियम है कि सीमा के 10 किलोमीटर तक कोई ल’ड़ाकू विमान उड़ान नहीं भर सकता इसलिए चीन के ल’ड़ाकू विमान सीमा से 30-35 किलोमीटर के करीब उड़ान भरते दिख रहे हैं. मई में जब चीन के साथ तनाव बढ़ना शुरू हुआ था तब भारत ने सुखोई-30 एमकेआई को तैयार कर लिया था. भारतीय इलाके में लगातार सैन्य मूवमेंट जारी है. भारत ने भी सीमा पर अपने भारी हथियार पहुँचाना शुरू कर दिया है. इलाके के रहने वाले स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है. लद्दाख में रहने वाले बुजुर्ग बताते हैं कि 1962 के बाद इस तरह से सैन्य आवाजाही उन्होंने पहली बार देखी है.

हालाँकि दोनों देशों के बीच शांति बहाली के लिए विभिन्न स्तरों पर बातचीत जारी है. लेकिन इसके बावजूद चीन का कोई भरोसा नहीं है इसलिए भारत ने अपनी पुरजोर तैयारी कर रखी है. चीन पर भरोसा न करने की एक वजह सैतेलैत से मिली तस्वीरें भी है. सैटेलाईट तस्वीरों में साफ साफ़ दिख रहा है कि LAC के नजदीक चीन ने तोप और अन्य भारी हथियार जमा करना शुरू कर दिया है और साथ ही अपने सैनिकों की संख्या भी बढ़ा रहा है. चीन की मंशा खतरनाक लगती है इसलिए भारत ने भी जरूरी आदम उठाए है.