LAC पर चीन ने बढाई हलचल, चीनी हेलीकॉप्टरों को उड़ते देखे जाने के बाद भारतीय वायुसेना ने…

1326

एक तरफ तो चीन लद्दाख का तनाव सुलझाने के लिए भारत के साथ बातचीत कर रहा है वहीँ दूसरी तरह वो LAC पर अपने सैनिकों की संख्या भी बढ़ा रहा है. बीते 6 जून को दोनों देशों के बीच हुई कमांडर स्तर की बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकल पाया. इस बातचीत में भारत ने साफ़ साफ़ कह दिया था कि चीन को अपनी सेना को पीछे हटा कर अप्रैल वाली पोजीशन पर करना होगा. लेकिन इस बातचीत के विफल होने के बाद एक बार फिर चीन ने LAC पर अपनी हलचल बढ़ा दी है. LAC के नजदीक चीनी हेलीकॉप्टरों की गतिविधियाँ बहुत बढ़ गई है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक़ चीनी हेलीकाप्टर LAC पर जमे सैनिकों तक रसद और मदद पहुंचाने के काम में लगी है. भारत ने चीन को जवाब देने के लिए LAC पर अपनी पोजीशन मजबूत कर ली है. सैनिकों की संख्या बढ़ा दी है और साथ ही बोफोर्स आर्टिलरी भी तैनात कर दी है. जिसके बाद बौखलाए चीन ने LAC पर अपनी गतिविधियाँ बढ़ा दी. कुछ दिनों पहले भी LAC के नजदीक चीन के लड़ाकू विमान भी उड़ान भरते हुए देखे गए थे. जिसे देखते हुए भारतीय वायुसेना पूरी सतर्कता बरत रही है. LAC के करीब दौलत बेग ओल्डी हवाई पट्टी पर सुखोई विमान भी तैनात किये गए हैं.

चीन ने 10-12 चीनी लड़ाकू विमानों को अपने हुतान-गलगुन्सा बेस के पास तैनात किया है. चीन का ये एयरबेस पूर्वी लद्दाख के बेहद नजदीक है. भारतीय वायुसेना चीनी एयरबेस की गतिविधयों पर बारीकी से नज़र रखे हुए हैं. चीन की बढ़ी हुई गतिविधियों को देख कर लगता है कि वो तनाव कम करने के मूड में ही नहीं है. भारत भी ये मान कर चल रहा है कि लम्बे वक़्त तक चीन के सामने टिकना पड़ सकता है और उसी हिसाब से भारत ने भी LAC पर अपनी मोर्चाबंदी मजबूत कर ली है.