चीन ने बातचीत के बीच भारत के खि’लाफ रची एक और साजिश

75

बॉर्डर पर त’नाव दूर करने के लिए आये दिन दोनों देशों के बीच बैठक होती हैं. लेकिन चाइना अपना दोगला रवैया छोड़ने को तैयार नहीं हैं. चीन सेनाओं ने पेंगोंग  त्सो पर घुसपैठ की है वो अब वहां पर अपना कब्ज़े को जाहिर करने की तरकीब लगा रहें हैं. ताजा तस्‍वीरें दिखाती हैं कि चीन ने पैंगोंग त्‍सो में फिंगर 4 और 5 के बीच अपने देश का बड़ा सा मैप उकेरा है. पास ही में एक नि’शान भी बनाया गया है जो सैटेलाइट ने कैप्‍चर किया है.

चीन की अपनी हरकतों से कभी भी बाज़ नहीं आ सकता हैं. एक तरफ वो बैठक करता है और दूसरी तरफ वो इस तरह का दोगलापन दिखा रहा हैं. वहीँ दूसरी तरफ पैंगोंग त्‍सो के नजदीक स्थित चुशूल में ही भारत और चीन को कॉर्प्‍स कमांडर्स की मीटिंग हो रही है. आपको बता दें की फिंगर्स किस कहते है. झील के किनारे पर मौजूद पहाड़ियों को फिंगर्स कहते हैं.

भारत के मुताबिक, फिंगर 1 से 8 तक पैट्रोलिंग का अधिकार उसके पास है जबकि चीन फिंगर 4 तक अपना इलाका मानता है. फिंगर 4 के पास दोनों सेनाएं कई बार भि’ड़ चुकी हैं. इस वक़्त चीन सेना फिंगर 4 के पास मौजूद है और उसने उसके पीछे अपनी ताकत को मजबूत कर रखा हैं. PlanetLabs की सैटेलाइट तस्‍वीरें दिखाती हैं कि चीन ने न सिर्फ झील के किनारों, बल्कि 8 किलोमीटर दूर स्थित रिजलाइन के पास भी अच्‍छी-खासी फोर्स जमा कर रखी है. टेंट, हट और कई तरह के शेल्‍टर डिटेक्‍ट किए गए हैं. फिंगर 4 से 8 के बीच कई जगह चीनी पोस्‍ट्स सैटेलाइट तस्‍वीरों में कैप्‍चर हुई हैं.