दिल्ली दं’गों में हेड कांस्टेबल रतनलाल की ह’त्या के मामले में 1100 पेज की चा’र्जशी’ट दाखिल, ऐसे रची गई सा’जिश

581

CAA और NRC के वक़्त दिल्ली के अंदर फरवरी महीने में दं’गे किये गए थे. देश की राजधानी दिल्ली को बेतरतीब तरीके जला’या गया था. हर तरफ दिल्ली धू धू कर ज’ल रही थी. इन दं’गों में आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन ने दिल्ली को और भी बुरी तरह से जला’ने के लिए अपने घर पर हर तरह की तैयारी कर रखी थी.

CAA और NRC में दिल्ली को ज’लाने के साथ हेड कांस्टेबल रतनलाल को भी इन दंगा’इयों ने मौ’त के घा’ट उतार दिया था. रतन लाल के आलावा अंकित शर्मा को भी बेहर’मी से मा’रा गया था. जिसको लेकर दिल्ली पुलिस ने हेड कांस्टेबल रतन लाल की ह’त्या के आ’रोप में 1100 पेज की चा’र्जशीट दाखिल की गई हैं. चार्जशीट में ये बताया गया है कि ‘उपद्र’वियों के 40 से 50 लोगों के एक ग्रुप ने 22 फरवरी को इलाके में एक घर के बेसमेंट में मीटिंग हुई थी, जिसमें हिं’सा की साजिश रची गई.’

उपद्र’वी ने दिल्ली को ज’लाने की जो सा’जिश रची थी उसके मुताबिक, घर के बच्चों और बुजुर्गों को घर में रहने की नसीहत देकर उ’पद्रवी सड़को पर निकले थे और उन्होन उसके  बाद दिल्ली के अंदर उपद्र’व किया और दिल्ली को जला’ने की पूरी कोशिस की थी. 23 फरवरी को थोड़ा हंगा’मा किया और फिर वापस आ गए. लेकिन फिर 24 फरवरी को एक बार उप’द्रवी सड़कों पर निकलकर उत्पा’त मचाने लगे. इस दौरान शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा, एसपी अनुज शर्मा और हेड कांस्टेबल रतन लाल गंभीर रूप से घाय’ल हो गए थे.

 24 फरवरी को जो उपद्रवि’यों ने दं’गो को अंजाम दिया था उसमें हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की मौ’त हो गई थी. इस पूरे मामले में करीब 4 से 5 साजि’श कर्ता है, जिसमें सलीम खान, सलीम मुन्ना और शादाब का नाम शामिल है. आ’रोप में 17 लोगों को एसआईटी ने गि’रफ्तार किया था. चार्जशीट में सभी 17 आरो’पी बनाए गए हैं.