लॉक डाउन में केंद्र सरकार ने दी कुछ चीजों में ढील लेकिन अभी नहीं मिलेगी इन जगहों पर ढील की इजाजत

95

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की वजह से देश पूरी तरह से रुक सा गया हैं. आज देश को बचाने के लिए 3 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया है. जिसकी वजह से आज देश में लगभग सभी चीज़े बंद हो चुकी हैं. जिसको लेकर केंद्र सरकार ने आदेश जारी किया है.

केंद्र सरकार की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि जरूरत का सामान बेच रही दुकान से बाहर वाले इलाके (ज्यादातर ग्रामीण) में सभी दुकानें खोलने की इजाजत है. गृह मंत्रालय की ओर से लॉकडाउन में ढील को लेकर जारी किए गए निर्देशों के बाद राज्यों से प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी हैं. दिल्ली फिलहाल लॉकडाउन में किसी भी प्रकार की राहत देने के मूड में नहीं है.क्योकि दिल्ली में कोरोना के मरीज कुछ ज्यादा ही तादात में मिल रहें हैं. वहीं, राजस्थान और पंजाब ने भी ढील देने के आदेश को अस्वीकार कर दिया है. महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में भी, हॉटस्पॉट्स वाले क्षेत्रों में किसी प्रकार की ढील नहीं दी जा रही है.

शुक्रवार को देर रात केंद्र सरकार का ऑर्डर आया. उसमें कहा गया कि हॉस्पॉट को छोड़कर बाकी जगहों पर सभी तरह की दुकानें खोलने की इजाजत होगी. इसमें दुकाने के रजिस्टर होने जैसी शर्तें जोड़ी गई थीं. सलून का जिक्र करते हुए पुण्य सलिला श्रीवास्तव (जॉइंट सेक्रटरी, गृह मंत्रालय) ने कहा कि सलून सर्विस देता है. फिलहाल ऐसी दुकानों को छूट है जो कुछ सामान बेचती हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि अभी रेस्तरां खोलने की भी इजाजत नहीं है.

गृह मंत्रालय ने अपने स्पष्टीकरण में बताया कि ग्रामीण इलाकों में सभी दुकानें खुली रहेंगी हालांकि अभी शहर के अंदर मॉल्स को खोलने कीई इजाजत नहीं है. शहरी इलाकों में सभी स्टैंडअलोन शॉप्स, रिहायशी इलाकों की नजदीकी दुकानें और रेजिडेंशल कॉम्पलेक्सों के भीतर स्थित दुकानों को खोले जाने की इजाजत है. शॉपिंग मार्केट, मार्केट कॉम्पलेक्स और शॉपिंग मॉल्स को इजाजत नहीं है. हॉटस्पॉट इलाकों में भी दुकानें नहीं खुलेंगी.

गृह मंत्रालय का ये आदेश एक हद तक सही भी है. क्योकि देश में कोरोना को देखते हुए अभी सभी दुकान नहीं खोली जा सकती हैं क्योकि कोरोना की वजह से आज भी कई मरीज संक्रमित हो रहें हैं और देश में कोरोना की वजह से मौ’तों का भी आंकड़ा बढ़ रहा हैं.