सीबीएसई की 10 वीं और 12 वीं की बची हुई परीक्षाओं को लेकर सरकार ने किया तारीखों का ऐलान

चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में कुछ ही समय में जो तबाही मचाई उसने सभी को हिलाकर रख दिया है. इस वायरस के आगे बड़े-बड़े देश नतमस्तक हो गये हैं. कोई भी देश अभी तक इस बीमारी का इलाज नहीं ढूंढ पाया है न ही वैक्सीन बना पाया हिया जिससे लोगों को बचाया जा सके. हर दी हजारों की संख्या में लोग इससे संक्रमित हो रहे हैं और सैंकड़ों जान दे रहे हैं.

जानकारी के लिए बता दें भारत सरकार के अलावा अन्य देशों पर इस बीमारी से बचने के लिए बस एक ही उपाय था वो था लॉकडाउन जोकि इस समय भी भारत में भी 17 मई तक लागू है. पूरे देश में लॉकडाउन की वजह से देश की सारे कामकाज ठप्प हो गये और आवाजाही पर रोक लग गयी. इसी तरह जिन बच्चों के पेपर रह गये थे वो भी नहीं हो पाए और स्कूल कॉलेज सब बंद हो गये.

अभी हाल ही में खबर आई थी कि CBSE के 10 वीं और 12 वीं के बच्चों के पेपर नहीं करवाए जायेंगे बल्कि उन्हें इंटरनल एग्जाम के आधार पर पास कर दिया जायेगा. अब इसी बीच सीबीएसई के बच्चों को लेकर बड़ी खबर आ रही है जिसे जानने के बाद बच्चों को बड़ा झटका लग सकता है. जी हाँ मानव संसाधन मंत्रालय ने अब इन बच्चों के पेपर को लेकर बड़ा फरमान जारी कर दिया है.

गौरतलब है कि मानव संसाधन मंत्रालय ने आज सीबीएसई यानी केन्दीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12 वीं और 10 वीं की बची हुई परीक्षाओं की तारीख की घोषणा कर दी है. मंत्रालय की तरफ से जारी फरमान में बताया गया है कि लॉकडाउन के कारण स्थगित परीक्षाओं के लिए नई तिथियों की घोषणा हो चुकी है. 1-15 जुलाई के बीच में ये परीक्षाएं संपन्न करवाई जाएगी. 10 वीं 12 वीं की बची हुई परीक्षाओं की डेट शीट सीबीएसई बोर्ड अपनी ऑफिसियल वेबसाइट पर जारी कर देगा. जिसके बाद बच्चों को उन पेपर देने होंगे.