पीएम मोदी की रैली में बेहोश हुआ कैमरामैन, बाद में लोग चिल्लाने लगे मोदी-मोदी!

303

जल्दी ही लोकसभा चुनाव होने वाले हैं. सभी पार्टियां अब चुनावी मूड में आ गये हैं. प्रधानमंत्री मोदी भी अब चुनाव प्रचार का काम शुरू कर चुके हैं. पीएम मोदी रैली कर अपने पांच साल की उपलब्धियों के बारे में लोगों को बता रहे है. इसी सिलसिले में प्रधानमंत्री मोदी 30 जनवरी को सूरत पहुंचे थे जहां उन्होंने बस अड्डे के नए टर्मिनल की आधारशिला रखी..इसके बाद उन्होंने एक जनसभा को सम्भोधित किया लेकिन इसी दौरान एक घटना घटी…इस घटना पर प्रधानमंत्री मोदी का रिएक्शन देखकर हर कोई मोदी-मोदी चिल्लाने लगा.


दरअसल प्रधानमंत्री सभा को संबोधित कर रहे थे तभी अचानक पीएम मोदी की रैली को कबर कर रहा एक कैमरामैन चक्कर खा कर गिर गया. इसके तुरंत बाद पीएम मोदी ने अपना भाषण रोक दिया और तुरंत उन्होंने कैमरामैन किशन रमोलिया को 108 एम्बुलेस बुलाकर अस्पताल भेजना का आदेश दिया है. पीएम मोदी द्वारा तुरंत दिया गया आदेश देखकर वहां मौजूद लोगों मोदी मोदी चिल्लाने लगे.
अस्पताल पहुँचने के बाद किशन रमोलिया ने कहा कि मैंने सुबह से पानी नही पिया था..शायद इसी वजह से मुझे चक्कर आ गया…अच्छा हुआ कि पीएम मोदी हर तरफ अपनी नजर दौड़ा रहे थे. उन्होंने मुझे गिरते देखा और मुझे अस्पताल पहुँचाने को कहा.
कैमरामैन को अस्पताल पहुँचाने का निर्देश देने के बाद उन्होंने फिर अपना भाषण शुरू किया और अब उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलना शुरू किया. पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा ‘मुझसे मत पूछना कि 40-50 रुपए का बल्ब 350 रुपए में बिकता था तो बीच वाले पैसे कहां जाते थे, मुझे मत पूछना, उसका जवाब राजीव गांधी देकर गए थे. एक रुपया जाता था तो 25 पैसा पहुंचता था, बाकी का 75 पैसा कौनसा पंजा खाता था, वो सारी दुनिया जानती है.’
पीएम मोदी ने कहा कि ‘अगले 10-15 सालों में सबसे तेजी से विकास करने वाले शहर भारत के होंगे. और उन 10 शहरों की लिस्ट में टॉप पर सूरत शहर होगा.’
इन सब के अलावा पीएम मोदी द्वारा कैमरामैन की मदद किया जाना लोगों को खूब पसंद आ रहा हैं. सोशल मीडिया पर लोग पीएम मोदी की तारीफ कर रहे हैं.

ये कोई पहला मौका नही हैं जब प्रधानमंत्री अपने भाषण के दौरान अपने आस पास मौजूद लोगों पर ध्यान देते रहे हो..एक बार गुजरात दौरे पर एक कैमरामैन पानी के तेज में बहाव में बह जाता है अगर पीएम मोदी ने आवाज लगाकार उसे चेताया ना होता…इसी के साथ पीएम मोदी की रैली में इकट्ठा होने वाली भीड़ कई बार पेड़ों पर चढ़ जाती हैं तो पीएम मोदी उन्हें नीचे उतरने का इशारा कारते हैं. हाल ही में पीएम मोदी की तरह ही राहुल गाँधी असम के दौरे पर थे तब एक कैमरामैन के गिरने पर वे भी उसे उठाने दौड़े थे.