PM मोदी पर क्या कहते हैं ये बिज़नस के बादशाह??

456

हाल ही में एक रिसर्च ग्रुप गेलैप इंटरनेशनल की तरफ से सर्वे किया गया जिसके मुताबिक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विश्व के सबसे ज्यादा लोकप्रिय नेताओं में से एक हैं… इतना ही नहीं वो ट्विटर पर भी सबसे ज्यादा फॉलो किये जाने वाले नेता भी हैं. देखिये ना.. एक तरफ विपक्ष है जो उनके राजनीतिक फैसलों पर हमेशा सवाल खड़े करता है, लेकिन प्रधानमंत्री की रणनीतियां और उनके दृष्टिकोण को दुनिया भर के बड़े-बड़े बिजनेसमैन सराहते हैं.

आइये जानते हैं टॉप बिज़नस टाइकून क्या कहते हैं प्रधानमंत्री मोदी के बारे में.

  • आनंद महिंद्रा, एग्जीक्यूटिव चेयरमैन – महिंद्रा ग्रुप

“ नरेन्द्र मोदी लोगों की मानसिकता बदलने की कोशिश कर रहे हैं,   उन्होंने सिस्टम को बिल्कुल पारदर्शी बना दिया है, जिससे दिल्ली और सरकारी मंत्रालयों में भ्रष्टाचार अब ना के बराबर हो गया है.”

  • अनिल अग्रवाल, फाउंडर एंड चेयरमैन – वेदांता रिसोर्सेज

“दुनिया के लिए भारत में निवेश करने के लिए इससे बेहतर समय हो ही नहीं सकता, मोदी देश को $2 ट्रिलियन से $20 ट्रिलियन की तरफ ले जा रहे हैं.. और रेड टेप से रेड कारपेट पर.”

  • अनिल अम्बानी, चेयरमैन – रिलायंस ग्रुप

“ नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में चुन कर हमने सिस्टम में 4th D जोड़ दिया है.. यानि decisiveness (निर्णायकता) उनके प्रधानमंत्री के रूप में कार्यभार संभालने के साथ, हमने अपने देश के इतिहास में एक नए युग का उद्घाटन किया: दूरदर्शी और निर्णायक नेतृत्व का। “

   4 दीपक पारेख, अध्यक्ष, एचडीएफसी

“मैक्रो-इकोनॉमिक परिप्रेक्ष्य से भारत आज की तुलना में मजबूत स्थिति में कभी नहीं रहा है। इसका कारण यह है कि विकास की अपार संभावनाएं प्रदर्शित हो रही हैं, और हेल्म ड्राइविंग नीति ने बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार को खत्म कर दिया है।”

  • जॉन चैम्बर्स, पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष और सीईओ, CISCO सिस्टम्स

“वह (मोदी) साहसी हैं। वह हर दिन अपने देश के भविष्य के बारे में सोचते हुए जागते हैं। मुझे लगता है कि उन्हें देश के प्रति कार्य करने से रोकना देश के लिये बड़ा जोखिम होगा।”

जुलाई, 2018

  • कुमार मंगलम बिड़ला, अध्यक्ष, आदित्य बिड़ला समूह

“डिजिटल इंडिया वास्तव में एक रोमांचक संभावना है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने इस कदम के जरिये अपना दृष्टिकोण स्पष्ट किया है, जो उनकी स्पष्टता और उनकी भविष्यवादी सोच को दर्शाता है।”

जुलाई, 2015

  • मार्क जुकरबर्ग, सीईओ, फेसबुक

“मैं प्रधान मंत्री मोदी की डिजिटल इंडिया के प्रति प्रतिबद्धता की गहरी सराहना कर रहा हूँ … भारत को प्रगति करते रहने के लिए ऑनलाइन लीडर बनने की आवश्यकता है।”

सितम्बर, 2015

• मुकेश अंबानी, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक

“भारत इन प्रधान मंत्री के लिए भाग्यशाली है जो न केवल एक व्यापक और सम्मोहक दृष्टि को यथार्थ में बदलते हैं, बल्कि अपने नेतृत्व को वास्तविकता में बदलने के लिए व्यक्तिगत छमता भी रखते हैं। यह मेरा विश्वास है कि आपके (पीएम) नेतृत्व के तहत, डिजिटल इंडिया समाज के सभी वर्गों के साथ साझेदारी की पहल भी करेगी। एक साझेदारी जो 1.2 बिलियन भारतीयों की शक्ति का लाभ उठाएगी।”

जुलाई, 2015

• नारायण मूर्ति, इंफोसिस के सह-संस्थापक

“हमारे पास एक पीएम है जो उत्साही और कड़ी मेहनत कर रहा है। सभी लोग, पक्ष- विपक्ष को उसके पीछे रैली करनी चाहिए। उनके नेतृत्व में बहुत सारी अच्छी चीजें हुई हैं, लेकिन ज्यादा कुछ कहना जल्दबाजी होगी। इसलिए, हम सभी को पीएम के साथ रहना चाहिए उसका समर्थन करें और दक्षता की भावना के साथ काम करना जारी रखें, मुझे यकीन है कि हम जरूर प्रगति करेंगे।”

मई, 2015

पॉल जैकब्स, पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष, क्वालकॉम

“हम भारत को डिजिटल रूप से सशक्त समाज और बेहतर अर्थव्यवस्था में बदलने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण का अनुसरण  करते हैं।”

सितंबर, 2015

• पॉल पोलमैन, सीईओ, यूनिलीवर

“मैं राजनीति में नहीं आना चाहता, लेकिन भारतीय प्रधानमंत्री जो करने की कोशिश कर रहे हैं,  उसमें दो चीजें हैं – एक ये बड़े विचार हैं-  स्मार्ट इंडिया, मेड इन इंडिया, स्वच्छ भारत। ये बड़े वादे हैं और केवल वो ही इन्हें पूरा कर सकते हैं। वो अपने लिए ऊंचे मापदंड स्थापित करते हैं। इसलिए सवाल यह है कि उनके साथ साथ पूरा देश भी कब इन सपनों से जुड़ता है. एक नई पहल के साथ आप जो करने की कोशिश कर रहे हैं, अर्थव्यवस्था के लाभ के लिए उसका सार सही है। उनकी कई पहलों का समर्थक हूँ क्योंकि यह हमारे लिए फायदेमंद है। ”

सितम्बर, 2017

• पीटर आर हंट्समैन, सीईओ, हंट्समेन कारपोरेशन

 “हम में से कई (अमेरिका में) हैं जो चाहते हैं आप (मोदी) रुके और पूरे     विश्व का नेतृत्व करें।”

जनवरी, 2017

• प्रेम वत्स, अध्यक्ष और सीईओ, फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग्स

“वह बिज़नस फ्रेंडली हैं, और उनका ट्रैक रिकॉर्ड शानदार है। 2014 में चुनाव के बाद से भारत की राजनीतिक जलवायु बदल गई है।”

मई, 2018

• राहुल बजाज, बजाज समूह के अध्यक्ष

“मैं कह सकता हूं कि मोदी के शासन में कैपिटलिज्म पनप नहीं पाएगा। वह एक साफ-सुथरा आदमी है और सरकार की साफ-सुथरी छवि को बनाए रखना चाहता है। वह अन्य स्वार्थी नेताओं की तरह भी नहीं है और हर उस आदमी को महत्ता देते हैं जो चुनाव के पहले भी उनके साथ था लेकिन नियम और आदर्शों के साथ। “

अप्रैल, 2015

• राजन आनंदन, प्रबंध निदेशक, गूगल इंडिया

“उनके पास बहुत ऊर्जा है। मैं नहीं जानता कि वह ऐसा क्या खाते पीते हैं, मैंने उनके साथ बहुत समय बिताया है। वह हमेशा स्फूर्ति से भरपूर रहते हैं, वो मुझसे लून तकनीक के बारे में सवाल पूछ रहे थे,  पर मैं आशंकित था कहीं उनके पास कैमरा इत्यादि तो नहीं था, मैंने उन्हें कभी भी जम्हाई लेते हुए या थकान और बोरियत में नहीं देखा। ”

अक्टूबर, 2015

• राजीव बजाज, प्रबंध निदेशक, बजाज ऑटो

“यदि समाधान और विचार सही है, तो काम वैसे ही होता है जैसे मक्खन में गर्म चाक़ू निकलता है,  लेकिन अगर कोई रणनीति काम नहीं कर रही.. जैसे नोटबंदी.. तो ऊसके एक्सेयूशन को ब्लेम ना करें, आपकी रणनीति ही गलत है।”

• रतन टाटा, टाटा संस के पूर्व अध्यक्ष

“मोदी अब प्रधान मंत्री के रूप में भारत, भारतीय लोग और एक नए भारत की पेशकश कर रहे हैं। हमें उन्हें उस नए भारत की पेशकश करने का अवसर देने की आवश्यकता है। वह भारत को नए सिरे से देखने में सक्षम हैं और मैं आशा करता हूं उनके नेतृत्व में भारत वह नया भारत बनेगा  जिसका उन्होंने वादा किया है। “

सितम्बर, 2017

• सत्य नडेला, सीईओ, माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन

“भारत में विश्व स्तर के उद्यमी और मानव पूंजी है। प्रधानमंत्री की दृष्टि बिलकुल निशाने पर है; वह जानते हैं कि तकनीक ही मानव प्रतिभा को साबित करने का सबसे अच्छा और शक्तिशाली उपकरण है।”

सितंबर, 2015

सुनील मित्तल, संस्थापक और अध्यक्ष, भारती एंटरप्राइजेज

“वह प्रौद्योगिकी की ताकत को समझता है, वह समझते हैं कि ये कैसे राष्ट्र को बदल सकती है, वह जानते हैं इससे कैसे देश की लंबाई और चौड़ाई को कम से कम संभव समय सीमा में जोड़ा जा सकता है। हम वास्तव में धन्य हैं कि आपने डिजिटल पहल को प्रमुख स्तंभों में चुना। “

जुलाई, 2015

• विजय शर्मा, संस्थापक और सीईओ, पेटीएम

अगर आज भारत को देखें, तो यह एक बेहतरीन अवसर है। मोदी के प्रधानमंत्री बनने से ठीक पहले देश की आर्थिक वृद्धि 5% से नीचे थी। उन्हों ने रेड टेपों को काफी कम कर दिया है और प्रो-बिजनेस, प्रो-कंज्यूमर ग्रोथ लेकर आये हैं

जनवरी, 2018