बजट में ये चीज़े हुई महंगी और ये चीज़े हुई सस्ती

1886

इस साल का पहला बजट पेश हो चुका हैं  जिसकों मोदी सरकार में कार्यरत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश किया हैं. इस बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई मुद्दों को ध्यान में रखते हुए इस  बार का बजट पेश किया हैं. बजट में रेल, स्वास्थ्य , किसान, शिक्षा, सामान्य वर्ग और सैलरी वालों को देखते हुए बजट बनाया . यह बजट भाषण 2 घंटे 41 मिनट तक चला जो अभी तक का सबसे लम्बा भाषण था. इस बजट से खासतौर पर लोगों की रोजमर्रा की चीजों पर नजर रहेगी.

2020 -21 के आम बजट से लोगो को कई उम्मीद हैं लेकिन इस बजट में कुछ चीजे महंगी और सस्ती हो जाएंगी जिससे आम लोगो को थोड़ी सी राहत मिलेगी.  इस बजट में होम लोन ,साबुन ,शैम्पू, बालों का तेल ,टूथपेस्ट, डेटरजेंट , बिजली का घरेलु सामान (जैसे-पंखा, ब्रीफकेस, लैंप) , रसोई में प्रयुक्त सामान (जैसे –बर्तन, पॉट कुकर, चूल्हा, लाइटर), बांस का फर्नीचर , खाद्य सामग्री ( जैसे-पास्ता , मयोनेज, नमकीन,सुखा नारियल, चॉकलेट, वेफर्स, कस्टर्ड पाउडर ) , ऊन और ऊनी धागे , ठंडा रोल्ड इस्पात की कॉयल, गर्म रोल्ड कॉयल,  बैटरी से चलने वाले वाहनों के कल पुर्जे, मोबाइल फोन के चार्जर और सेटअप बॉक्स जैसी चीज़े सस्ती हो जाएंगी

 वहीं  पेट्रोल , डीजल , सोना , काजू , किताबें , ऑटो पार्ट्स , सिंथेटिक रबर , पीवीसी , टाइल्स , तंबाकू उत्पाद , चांदी , ऑप्टिकल फाइबर, फ्रेम और सामान , एसी , लाउडस्पीकर , विडिओ रिकॉर्डर , सीसीटीवी , कैमरा , वाहन के हॉर्न , सिगरेट , तेल रसायन  वसायुक्त अम्ल , बुटाइल रबर , विंक स्क्रीन वाइपर्स , अखबारी कागलज , बीम लाइट घर्षण सामग्री , मोटर वाहनों के ताले .  सैनेटरी नैपकीन जैसी चीज़े महंगी हो जाएगी.  वहीं बजट के पेश होने के बाद वित्तीय बाजार में इसको लेकर नाराजगी देखने को मिली