बजट भाषण देते वक्त निर्मला सीतारमण ने बना डाला ये नया रिकॉर्ड

703

देशभर के सभी लोगों की निगाहें बजट पर टिकी हुई थी. वही वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल का पहला और अभी तक का सबसे लम्बा बजट भाषण दिया. यह बजट भाषण 2 घंटे 41 मिनट तक चला. इसके अलावा पिछले बजट भाषण को भी निर्मला सीतारमण ने 2 घंटे 17 मिनट तक चला. इससे पहले NDA सरकार में वित्त मंत्री जसवंत सिंह का नाम हैं और चौथे, पांचवें  और छठे नंबर पर पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का नाम हैं.  उन्होंने 2014, 2016 और 2017 में सबसे लम्बा भाषण दिया था. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का  मोदी सरकार में यह दूसरा बजट पेश किया हैं.

इस बार के बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शिक्षा, स्वास्थ्य, किसान और रेल पर भी ध्यान रखा. जिसमें निर्मला सीतारमण ने किसानों के लिए 2022 तक उनकी आय को बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं. इसके लिए 16 सूत्री कार्यक्रम बनाया गया है. अन्नदाता की आय बढाने के लिए पशुपालन और मछली पालन पर ध्यान दिया जायेगा और उसे बढ़ावा दिया जाएगा. जहाँ भी खेती नहीं हो सकती उस बंजर जमीन पर सौर ऊर्जा उत्पादन की दिशां में कदम उठाये जायेंगे

New Delhi: Finance Minister Nirmala Sitharaman addresses a press conference after a cabinet meeting in New Delhi, Wednesday, Nov. 6, 2019. (PTI Photo/Vijay Verma) (PTI11_6_2019_000203B)

इसी के साथ अपने भाषण में आगे बढ़ते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि मेडिकल उपकरणों पर जो टैक्स लगता है उससे मिलने वाले पैसे का उपयोग अस्पताल बनाने में किया जाएगा. 2025 तक टीबी को भारत से ख़त्म करने के लिए ‘टीबी हारेगा, देश जीतेगा’ अभियान लांच किया गया है. डॉक्टरों की कमी को पूरा किया जाएगा. बजट में 69 हजार करोड़ रुपये हेल्थ सेक्टर के लिए आवंटित किया गया है.  

वित्त मंत्री ने रेलवे से जुड़े मुद्दों पर बताया है कि 27 हजार किलोमीटर रेलवे ट्रैक के इलेक्ट्रिफिकेश का लक्ष्य रखा है. इसी के साथ एक और बड़ा कदम उठाया जायेगा. इस प्रोजेक्ट पर १८ हजार 600 करोड़ रूपये खर्च होंगे. इसी के साथ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई मुद्दों पर अपने भाषण में बात करते हुए अचानक स्वास्थ्य ख़राब होने की वजह से भाषण को जल्दी ही खत्म कर दिया.