कोरोना के चलते ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने भारत दौरे को लेकर लिया ये बड़ा फैसला !

देश और दुनिया में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. जब दुनियाभर में कोरोना ने दस्तक दी थी तो हर किसी के मन में यही सवाल था कि आखिर इस बीमारी की दवा कब आएगी. एक लंबे इंतजार के बाद कई देशों ने कोरोना की वैक्सीन बनाई. भारत भी उन देशों में शामिल था जहाँ एक नहीं बल्कि दो 2 वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दी गयी. सरकार के आदेश के बाद देश में वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई.

जानकारी के लिए बता दें देश में तेजी से वैक्सीनेशन का काम चल ही रहा था और भारत ने इस मामले में रिकॉर्ड भी बनाये थे. उसके कुछ दिन बाद ही भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने दस्तक दे दी जोकि बहुत तेजी से फ़ैल रहा है. भारत में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है जिसने सभी की चिंता बढ़ा दी है. इसी बीच ब्रिटेन से भी बड़ी खबर आ रही है.

दरअसल भारत में बढ़ते कोरोना के संक्रमण के चलते वहां के पीएम बोरिस जॉनसन ने बड़ा फैसला लिया है. जी हाँ इस महीने ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन का भारत दौरा था लेकिन कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते उन्होंने अपने इस दौरे को छोटा करने का फैसला किया है. भारत आने के बाद वो पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे. उनके प्रवक्ता ने इस बात की जानकारी दी है. उन्होंने कहा है कि भारत सरकार से चर्चा करने के बाद दौरे को छोटा करने का फैसला लिया गया है.

गौरतलब है कि ब्रिटिश पीएम प्रवक्ता ने कहा ‘दौरे में भारत सरकार और इंडियन बिजनस लीडर्स के साथ उच्च-स्तरीय चर्चाएं फोकस में रहेंगी.’ उन्होंने आगे बताया कि 26 अप्रैल को ही अधिकतर कार्यक्रम रखे जायेंगे. वैसे वो दिल्ली के अलावा मुंबई, पुणे, बेंगलुरु और चेन्नै भी जाना चाह रहे थे लेकिन कोरोना की दूसरी लहर की वजह से उन्होंने अपने दौरे को री शेड्यूल करने के लिए मजबूर होना पड़ा है. इससे पहले वो 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर आने वाले थे लेकिन उस समय वो यूके में कोरोना के नए स्ट्रेन की वजह से भारत नहीं आ पाए थे. वहीँ ब्रिटेन जून के महीने में G-7 समिट की मेजबानी करेगा, जिसके लिए पीएम म्प्दी को विशेह न्योता दिया गया है.

Related Articles