उधर चीन बढ़ा रहा तनाव इधर भारत ने लद्दाख में पूरा कर लिया ये काम, अब सेना…

24

लद्दाख में चीन के साथ तनाव के बीच सरकार ने लद्दाख में एक बड़ा काम पूरा कर लिया. लद्दाख में बहने वाली जंसकार नदी पर पुल बनाने का काम BRO ने पूरा कर लिया है. सेना क मूवमेंट के लिए ये पुल बेहद अहम थी. इस पुल के बन जाने से लद्दाख और कारगिल के बीच की दूरी 160 किलोमीटर कम हो गई. पहले कारगिल होते हुए लेह पहुंचने में 440 किलोमीटर सफर तय करना पड़ता था. अब यह सफर घटकर 280 किलोमीटर हो गया है.

कारगिल से लेह पहुँचने के लिए दुसरे मार्ग का प्रस्ताव पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वायपेयी ने रखा था. लेह-कारगिल हाइवे हमेशा पाकिस्तान के निशाने पर रहता है. बहुत अधिक ऊंचाई पर स्थित ये हाइवे सीधे POK से पाकिस्तानी सेना निशाना बना सकती है. कारगिल यु’द्ध के दौरान सेना को इस हाइवे पर काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था. तब तत्कालीन पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने एक वैकल्पिक मार्ग का प्रस्ताव रखा जिससे आसानी से कारगिल और लेह को जोड़ा जा सके. जंसकार नदी पर पुल निर्माण होते ही ये ये वैकल्पिक मार्ग शुरू हो गया. इस पुल का उद्घाटन शुक्रवार को किया गया.

इस पुल का नाम नाम शमशेर सिंह रखा गया है. कर्नल शमशेर सिंह ने 1948 में जोजिला लड़ाई के दौरान अपने जवानों के साथ पाकिस्तानी की साजिश को नाकाम कर दिया था. उन्ही की बहादुरी को सलाम करतेहुए इस पुल का नाम शमशेर सिंह ब्रिज रखा गया है. केंद्र सरकार की पूरी कोशिश है कि सीमाई इलाकों में सड़कों का जाल बिछा दिया जाए ताकि सेना को मूवमेंट में कोई दिक्कत न हो और साल भर आवागमन होता रहे. इस दिशा में ये पुल एक बहुत बड़ी कामयाबी है.