रजनीकांत ने BJP के चुनावी वादे का किया स्वागत

313

देश में चुनाव का पर्व चल रहा है ऐसे में सभी पार्टियों ने घोषणापत्र जारी कर दिया है..इसी कड़ी में बीजेपी ने भी अपना घोषणापत्र जारी किया था, जिसमें लगभग सभी विपक्षी पार्टियां कोई ना कोई कमी ढूंढने में लगी हुई है..ऐसे में तमिल अभिनेता और सुपरस्टार रजनीकांत ने बीजेपी के घोषणापत्र की तारीफ की है। सुपरस्टार रजनीकांत ने संकल्प पत्र में नदियों को आपस में जोड़ने की परियोजना के ऐलान का स्वागत किया है..इससे पहले रजनीकांत इन चुनावों में किसी भी राजनीतिक पार्टी का समर्थन ना करने की बात कह चुके हैं, ऐसे वक्त में जब देश में चुनाव का मौसम है..उनका ये बयान आना बहुत दिलचस्प है और उनके इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं..

दरअसल, सुपर स्टार रजनीकांत ने बीजेपी के संकल्प पत्र की तारीफ करते हुए कहा की इसमें नदियों को जोड़ने वाले वायदे पर काम होगा तो जनता को इससे खुशी मिलेगी..रजनीकांत ने कहा कि नदियों को जोड़ने की वकालत वे तब से कर रहे हैं जब अलट बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे, उन्होंने कहा कि वाजपेयी जी ने उनके इस विचार को स्वीकार किया था, अब भारतीय जनता पार्टी ने घोषणा पत्र में इस प्रोजेक्ट को लागू करने का वायदा किया है, अगर यह पूरा होता है तो जनता इससे खुश होगी..इसके साथ कहा कि यह पहल गरीबी के मुद्दे से निपटने में कारगर होगी, क्योंकि इससे किसानों का उत्थान होगा और करोड़ों लोगों को रोजगार मिलेगा..उनके इस बयान के बाद अब यह अटकले लगाई जा रही हैं कि वे भाजपा को अप्रत्यक्ष रूप से अपना समर्थन जता रहे हैं..

यहाँ आपको ये भी जानना जरूरी है कि तमिलनाडु के लोग काफी लंबे वक्त से कावेरी और गौदावरी जैसी नदियों को आपस में जोड़ने की मांग करते आए हैं ताकि राज्य में उत्पन्न हो रही पानी की किल्लत को जड़ से खत्म किया जा सके..पानी की कमी से राज्य में जहां एक तरफ गरीबी बढ़ रही है, तो वहीं किसानों को भी भारी नुकसान झेलना पड रहा है..अभी केंद्र सरकार और राज्य सरकार साथ मिलकर तमिलनाडु में इस परियोजना पर काम कर रहे हैं, और इस पूरी परियोजना पर लगभग 328 करोड़ रुपये खर्च होंने की संभावना है..

अगर बात सुपरस्टार रजनीकांत की करें तो दिसंबर 2017 में उन्होंने राजनीति में आने का ऐलान किया था.. उन्होंने अपनी राजनीतिक पार्टी ‘रजनी मक्कल मंडरम’ की भी स्थापना की थी। उस वक्त उन्होंने कहा था कि वे तमिलनाडु की राजनीति में बदलाव लाना चाहते हैं। हालांकि, बाद में उन्होंने यह घोषणा की कि वे इन लोकसभा चुनावों में अपने प्रत्याशी नहीं उतारेंगे और ना वे किसी पार्टी का समर्थन करेंगे। लेकिन अब रजनी ने बीजेपी को लेकर अपने रुख को साफ करने के संकेत दिये हैं..हालांकि उन्होंने प्रत्यक्ष तौर पर इसपर कुछ नहीं बोला है..

सुपरस्टार रजनीकांत का तमिलनाडु के अलावा पूरे देश में बोलबाला है..उनके फैंस की संख्या करोड़ों में हैं..अपने पूरे करियर में वो 200 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके हैं..उनके चाहने वालो का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि जब वर्ष 2016 में उनकी फिल्म कबाली आई थी, तो लोगों ने अपनी बीमारी का बहाना बनाकर ऑफिस से छुट्टी ली और फिल्म देखने गए। ट्विटर पर भी लोगों ने इतनी प्रतिक्रिया दी थी कि उसकी वेबसाइट कई बार क्रैश हो गई। हालांकि रजनीकांत अभी भी फिल्मों में सक्रिय हैं और शुक्रवार को उनकी फिल्म दरबार का पोस्टर रिलीज हुआ है..

बहरहाल, अब उनका बीजेपी को समर्थन देने के संकेत के बाद दक्षिण भारत में बीजेपी की स्थिति को मजबूत करने का काम कर सकता है..रजनीकांत के इस बयान के बाद बीजेपी को चुनावों में फायदा होगा या नहीं..ये तो चुनावों के बाद ही पता चलेगा..