दलित नेता शक्ति मलिक की ह’त्या को लेकर बिहार में ग’र’मा’ई सियासत, बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने RJD पर सा’धा नि’शा’ना

बिहार में विधानसभा चुनावो का बिगुल बज चुका है. जिसके साथ ही आ’रोप प्रत्या’रोप का सिलसिला भी जारी है. पक्ष और विपक्ष अपनी अपनी राजनीतिक तैयारी में जुटा हुआ है. वहीं बिहार विधानसभा चुनावो को देखते हुए महागठ’बं’ध’न के साथ साथ एनडीए में भी सीट शेयरिंग को लेकर बहुत दिनों से घ’मा’सा’न जारी है. इन सबके बीच बिहार में एक दलित नेता की ह’त्या हो जाती है. जिनको कुछ दिन पहले पार्टी ने नि’ष्का’सि’त कर दिया था. उन्होंने ही आरजेडी पर संगीन आ’रो’प लगाये थे.

आरजेडी अपने आपको द’लि’त, पि’छ’ड़ा और अ’ति’पि’छ’ड़ा का मसीहा बोलती है. लेकिन अब जब एक दलित नेता की गो’ली मा’र’क’र ह’त्या कर दी जाती है. तो आरजेडी के मुह में दही जम जाता है. किसी के मुहं से एक भी शब्द नहीं निकलते हैं. जिसके बाद तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव पर एफ’आई’आ’र द’र्ज कर दी गई है. शक्ति मलिक की ह’त्या को लेकर बीजेपी और जेडीयू विप’क्ष पर पूरी तरह से ह’म’ला’व’र है.

दलित नेता शक्ति मलिक की ह’त्या को लेकर भाजपा ने राजद नेता तेजस्वी यादव व तेज प्रताप यादव को क’ठ’घ’रे में खड़ा किया है. इस मामले में राजद के दोनों नेताओं से जवाब मांगा है. भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा है कि ‘बिहार के पूर्णिया जिले के के’हा’ट था’ना क्षेत्र में बिहार के जाने-माने दलित युवा नेता शक्ति कुमार मलिक की ह’त्या कर दी गई. वह पहले राजद के अनुसूचित जा’ति मो’र्चा के म’हा’स’चिव थे, कुछ दिन पहले ही उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया था. रानीगंज से निर्दलीय चुनाव लड़ने की तैयारी में थे. मलिक की ह’त्या मा’म’ले में तेजस्वी और उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव सहित छह लोगों के खि’ला’फ ना’म’ज’द प्रा’थ’मि’की द’र्ज की गई है. भाजपा के मीडिया सह प्रभारी डा. संजय मयूख ने कहा कि लालू परिवार जब सामाजिक न्याय करता है तो दलित नेता मलिक की ह’त्या हो जाती है. जब आर्थिक न्याय की बात करता है तो पशु बे-चारा और जनता बेचारी हो जाती है. सत्ता में रहते बेटा-बेटी को छोड़ इस परिवार ने किसी का भला किया हो, ऐसा लालटेन से ढूंढ़ने पर भी नहीं मिलता’. 
 

Related Articles