बीजेपी के सांसदों ने ऐसा क्या कर दिया कि चीन को मिर्ची लग गयी है, जानिए क्या है मामला

एक तरफ दुनियाभर में चीन के वुहान शहर से फैला कोरोना वायरस हाहाकार मचा रहा है वहीँ दूसरी ओर चीन अपनी नापाक हरकत से बाज आने का नाम नहीं ले रहा है. लद्दाख के पास बंकर बना रहा है. वहीँ भारतीय सेना भी उसे जवाब देने के लिए तैयार बैठा है. दूसरी ओर अमेरिका और चीन के बीच लगातार तनातनी बनी हुई है. अमेरिका लगातार चीन पर आरोप लगा रहा है कि उसने जानकर इस वायरस को फैलाया है.

जानकारी के लिए बता दें अमेरिका के साथ कई देश चीन पर इस बात का आरोप लगा रहे हैं वहीँ दूसरी ओर भारत उसकी हर हरकत का माकूल जवाब देने को तैयार है. इसी बीच बीजेपी के सांसदों ने ऐसा कदम उठाया है कि चीन तिलमिला गया है. दरअसल ताइवान की राष्ट्रपति साइ इंग-वेन के शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी के दो सांसदों ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शिरकत की.

बीजेपी सांसदों के इस कदम के बाद चीन को मिर्ची लग गयी है. उसने भारत से अपने आंतरिक मामलों में दखल से बचने को कहा है. बुधवार को ताइवान की राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण समारोह था जिसमें दिल्ली से बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी और राजस्थान के चुरू से सांसद राहुल कासवान ने इसमें वीडियो कांफ्रेंस की तकनीक से शिरकत की थी. उनके अलावा इस समारोह में अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ भी शामिल थे.

सांसदों ने ताइवान के कार्यक्रम में शामिल होने पर चीन ने लिखित में ऐतराज जताया है. चीनी राजनयिक ने कहा एक चीन सिद्धांत यूएन चार्टर और उसके कई प्रस्तावों में मान्य है और यह अंतरराष्ट्रीय संबंधों में आम तौर पर एक मानक है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय में इस पर मोटे तौर पर सर्वसम्मति है.’ वहीँ दूसरी ओर भारत ने लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बनाने के फैसले से भी चीन चिढ़ा हुआ है और लद्दाख के क्षेत्र में टेंट लगा रहा है.