झारखण्ड में भाजपा को जबरदस्त झटका, हाथ से फिसल गई सत्ता

1720

लोकसभा चुनाव में शानदार जीत दर्ज करने वाली भाजपा के हाथ से एक और राज्य फिसल गया. झारखण्ड विधानसभा के लिए जारी मतगणना में अब तक मिले रुझानों में झारखण्ड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल का महागठबंधन बहुमत हासिल कर चूका है और भाजपा के हाथ से झारखण्ड की सत्ता निकल चुकी है.

हालाँकि सुबह जब मतगणना शुरू हुई तो भाजपा और महागठबंधन में कांटे कि ताक्कत चल रही थी. कभी भाजपा आगे तो कभी महागठबंधन आगे चल रहा था लेकिन जैसे जैसे दिन चढ़ता गया भाजपा बहुमत से दूर होती चली गई और महागठबंधन ने रुझानों में बहुमत हासिल कर लिया.

देश में नागरिकता संशोधन एक्ट पर मचे बवाल के बीच भाजपा के लिए ये तगड़ा झटका है. अब विपक्ष इस जीत को CAA के खिलाफ जनता की नाराजगी साबित करने की पुरजोर कोशिश करेगा साथ ही अब एनडीए के सहयोगी दल भाजपा पर अपना दवाब भी बनायेंगे. आने वाले दिनों में बिहार में चुनाव् होना है. जेडीयू निश्चित तौर पर भाजपा पर दवाब बढ़ाएगी. क्योंकि पहले महाराष्ट्र और अब झारखण्ड भाजपा के हाथ से निकल चुकी है जबकि हरियाणा में पिछली बार पूर्ण बहुमत वाली भाजपा की सरकार इस बार जेजेपी की बैशाखी के सहारे चल रही है.

7 महीने पहले ही भाजपा ने लोकसभा में प्रचंड बहुमत हासिल किया था. उसके बाद हुए तीन राज्यों के चुनाव ने भाजपा को जमीन पर ला पटका है और एक-एक कर उसके हाथ से राज्य छिटकते जा रहे हैं. लोकसभा चुनाव के बाद तीन राज्यों में हुए चुनाव में भाजपा को सिर्फ झटका ही लगा है. हरियाणा में भले ही भाजपा ने सरकार बना ली हो लेकिन वो सरकार बैशाखी वाली सरकार है.