चुनाव में भाजपा अपने विजयश्री का पताका लहराने के लिए कसी कमर….

नरेन्द्र मोदी ऐसी शख्सियत का नाम है, जो कभी भी आलोचनाओं से घबराता नहीं है बल्कि अपनी आलोचनाओं का आत्ममूल्यांकन कर अपनी कमियों को सुधारने की कोशिश करता है. यही खूबी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दूसरे राजनीतिज्ञों से अलग बनाती है.और यही वजह है की पार्टी को नेरन्द्र मोदी पर विशवास रहता है. और देश भर में अगर कही भी चुनाव होता है तो पार्टी के तरफ से चुनाव का पूरा नेतृत्व स्वयं नरेंद्र मोदी करते हैं. बंगाल में विधान सभा चुनाव के लिए भाजपा ने अपनी तयारियां और तेज कर दी है. विजयश्री सुनिश्चित करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी राज्य में धुआंधार 20 रैलियां करेंगे. बंगाल भाजपा इकाई ने प्रत्येक बड़े जिले में दो और छोटे जिले में एक रैली का केंद्रीय टीम से आग्रह किया था.

भाजपा ने पीएम मोदी की 25 से 30 रैलियां कराने की मांग की थी. लेकिन, अभी बंगाल में मोदी की 20 रैलियों की ही रुपरेखा तय की गई है. बताया जा रहा है कि पीएम मोदी की पहली रैली कोलकाता के सबसे बड़े मैदान ब्रिगेड परेड मैदान में होगी. जिसमे करीब 15 लाख की भीड़ जुटाने का लक्ष्य रखा गया है. भाजपा की योजना बंगाल की राजनीति की सबसे बड़ी रैली कराने की है. पीएम मोदी के आलावा केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा करीब 50 – 50 चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे.

विधानसभा चुनाव के ऐलान के बाद हो रही इस रैली को बेहद अहम माना जा रहा है. पार्टी की ओर से चुनाव में किसी चेहरे का ऐलान नहीं किया गया है. ऐसे में सीएम फेस न होने की कमी को बीजेपी पीएम नरेंद्र मोदी की रैलियों के जरिए पूरा करना चाहती है.पीएम नरेंद्र मोदी सबसे लोकप्रिय नेता हैं और लोग इसलिए उन्हें सुनने के लिए उमड़ते हैं क्योंकि उन्हें उनकी प्रशासनिक क्षमता पर भरोसा है. यह बात कोई छिपी हुई नहीं है कि उनकी रैलियों से पार्टी को मजबूती मिलती है.

Related Articles