बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने VRS लेने और राजनी’ति में जाने वाली बात पर किया खु’लासा

94

बिहार विधानसभ चुनाव की तारीख का अभी तक ऐला’न नहीं हुआ है. चुनाव आयोग ने अपनी तै’यारी पूरी कर ली है और जो बची है. उससे पूरा करने में लगे हैं. बिहार चुनाव के मद्देन’ज़र सभी पार्टियों ने चुनाव की कैंपे’निंग शु’रू कर दी है. स’त्ता प’क्ष और वि’प’क्ष में भी ती’खी नो’क’झो’क चल रही है. दूसरी तरफ सुशांत सिंह की मौ’त के बाद हा’ई’ला’इट हुए बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने VRS ले लिया है.

जिसके बाद कई सवाल उठते नजर आ रहे है कि क्या अब वो राजनी’ति में अपना रुख करेंगे. क्या वो इस बार चुनाव लड़ें’गे. जिसे लेकर गुप्तेश्वर पांडे ने अपनी बात भी रखी है और चुनाव लड़’ने की संभा’वनाओं व VRS लेने के का’रण को स्प’स्ट किया है. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी उनकी बात को सही माना और उन्होने कहा कि हं’गा’मा उन्होंने नै’तिक द’बाव के का’रण किया. जिसके कारण ही को’रेंटिन किए आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को मुंबई में छो’ड़ा गया.

इतना ही नहीं उन्होंने राजनी’तिक द’ल में शामिल होने वाली बात पर जवाब देते हुए कहा कि क्या किसी राज’नीतिक द’ल में शामिल हो जाना या चु’नाव ल’ड़ जाना, पा’प है? अगर मैं चुनाव में जाने का फैस’ला करता हूं तो इसमें क्या अनै’तिक और अ’वैध है? जिसके बाद उन्होंने ये भी कहा कि मैं बिहार के किसी भी विधानसभा सीट से चुना’व लड़’कर जी’त सकता हूं. उन्होने निर्द’लीय चु’नाव लड़’कर जीतने का भी दा’वा किया.

जानकारी के लिए बता दें कि पूर्व डीजीपी ने दा’वा किया है कि उन्हें 14 सी’टों से चुनाव लड़’ने का ऑफ’र है. लेकिन अभी राज’नीति में जाने को लेकर फैस’ला नहीं किया है. और अगर वो राज’नीति में जाएंगे तो उसका ऐ’लान करेंगे.