बिहार चुनाव: महागठबंधन में सीट शेयरिंग के फोर्मुले को लेकर वामदलों की नाराज़गी आई सामने, दी ये चेतावनी

बिहार चुनाव को लेकर सु’ग’बू’गा’ह’ट तेज़ होती जा रही है. सभी पार्टियों ने अपने अपने तरीके से एक तरह का चुनाव प्रचार भी शुरू कर दिया है. बिहार में चुनाव को देखते हुए सौगातों की झ’ड़ी लग गई है. केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार ने भी बिहारवासियों के लिए तोहफे की संदूक खोल दी है. पीएम मोदी ने कोसी महासेतु का उद्घाटन कर के बिहार के लोगों को बहुत बड़ी ख़ुशी दी है. वही अब सीएम नीतीश कुमार ने भी ISBT बस अड्डे का उद्घाटन कर दिया है.

दूसरी तरफ बिहार चुनाव को लेकर अब कही ख़ुशी है तो कहीं ग’म है. वो इसलिए है क्योंकि सीट शे’यरिं’ग का पें’च फं’स रहा है. वो भी म’हा’ग’ठ बंधन के बीच पहले भी महा’गठ’बं’ध’न का कु’न’बा बि’ख’रा हुआ नज़र आ रहा है और अब वा’म’द’लों ने भी उनके सीट शेयरिंग के फार्मूला को मानने से इ’न’का’र दिया है. इसी को लेकर भाकपा- माले महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि ‘म’हा’ग’ठ’बं’ध’न से विधानसभा चुनाव में तालमेल की प्रकिया चल रही है, लेकिन सीट शेयरिंग को लेकर जो प्रस्ताव उनकी ओर से मिला है, वह 2015 विधानसभा चुनाव के आधार पर है और यह हमें मान्य नहीं है.’

उन्होंने बिहार चुनाव में सीट शे’य’रिं’ग को लेकर आगे कहा कि ‘पार्टी ने 53  सीटों की सूची दी थी और पिछले तीन चुनाव 100 से अधिक सीटों पर लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा की अगर ऐसे में हमे सीट शेयरिं’ग को लेकर बात नही बनी तो हम अकेल भी चुनाव लड़ सकते हैं.’ अब देखना ये है की क्या महा’ग’ठ’बं’ध’न अपना कुनबा संभाल पायेगा या नहीं. क्या वामद’लों की सीट को लेकर बात बन पायेगी? अब ये बात देखने वाली है.

Related Articles