बिहार के एक गाँव में CAA का विरोध करने आये वामपंथियों को गाँव वालों ने खदेड़ा

1662

CAA के खिलाफ वामपंथी और मुस्लिम समुदाय ही विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और उत्पात मचा रहे हैं. भले ही ये दावा किया जा रहा हो कि हर शहर में शाहीन बाग़ बनाया जाएगा, भले ही ये दावा किया जा रहा हो कि पूरा देश CAA के खिलाफ है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है. गाँव के लोग भी CAA के समर्थन में हैं.  

ट्विटर पर एक वायरल वीडियो में CAA का विरोध करने पहुंचे वामपंथियों को गाँव वालों ने खदेड़ दिया. बोलने के अंदाज से पता चल रहा है कि ये वीडियो बिहार के किसी गाँव का है. लेकिन किस गाँव का है ये अभी तक पता नहीं चल पाया है. इस वीडियो में एक टैम्पू पर लाल झंडा, CAA विरोधी बैनर और लाउडस्पीकर लगाये वामपंथी कार्यकर्ता CAA के खिलाफ नारे लगाते एक गाँव में पहुंचे तो गाँव के लोगों ने कहा, ‘यहाँ क्यों आये हैं आप ? यहाँ सब लोग CAA के समर्थन में हैं. ले कर जाइए यहाँ से अपना बाजा बूजा (लाउडस्पीकर और माइक). यहाँ सब कोई समर्थन में है CAA के, कोई विरोध में नहीं है.

लोगों के मन करने के बावजूद वो वामपंथी कार्यकर्ता लोगों को CAA के खिलाफ भड़काने की कोशिश करता है तभी दूसरा ग्रामीण कहता है, “जब कह रहे हैं कि यहाँ सब लोग समर्थन में है तो आप काहे बोल रहे हैं इसके खिलाफ” इसपर वो वामपंथी कार्यकर्ता कहता है कि ये समर्थन और विरोध की बात नहीं है. ये एक पार्टी का अभियान है… इतना सुनते ही गाँव के लोग भड़क जाते हैं और भोजपुरी में कहते हैं कि ये अभियान यहाँ नहीं चलेगा.. चलो ले जाओ अपना गाड़ी और बाजा यहाँ से. अंत में वो वामपंथी कार्यकर्ता ये कह कर वहां से चला जाता है कि “ठीक है अगर आपलोग कह रहे हैं कि न सुनेंगे न बोलने देंगे तो हम लोग जा रहे हैं.”