अलगावादी नेताओं पर कार्रवाई की लिस्ट में अब नंबर आया इनका! सम्पत्ति जब्त

342

देश में कुछ बड़े अलगाववादी नेता है जो अक्सर सुर्ख़ियों में रहते हैं. कभी अपने कामों को लेकर तो कभी उन पर हुई कार्रवाई को लेकर.. पुलवामा हमले के बाद से ही सरकार ने इन अलगाववादी नेताओं पर एक नए सिरे से कार्रवाई करने की बात कही थी.. और ऐसा होता भी दिखाई दिया… यासीन मालिक की गिरफ्तार इस बात का सबूत है. उसके संगठन पर बैन लगा और फिर उसकी संपत्तियों को जब्त भी किया गया.. लेकिन अब एक और अलगावावादी नेता पर इनकम टैक्स ने कार्रवाई की है. जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी पर जांच एजेंसियों का शिकंजा कसता जा रहा है। आयकर विभाग ने सोमवार को हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष गिलानी का दिल्ली स्थित फ्लैट जब्त कर लिया। गिलानी का यह फ्लैट मालवीय नगर के पास खिड़की एक्सटेंशन में है। । गिलानी 3,62,62,160 रुपए नहीं चुका पाए हैं।
बता दें कि पिछले महीने पवर्तन निदेशालय (ED) ने सैयद अली शाह गिलानी पर 14.40 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था. करीब 6.88 लाख रुपये कुर्क किए गए थे. गिलानी पर अवैध तरीके से विदेशी मुद्रा रखने का आरोप था.


गिलानी सहित हुर्रियत नेताओं पर जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी भावनाएं भड़काने का आरोप है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) घाटी के अलगाववादी नेताओं के खिलाफ जांच भी कर रही है। इन पर आरोप है कि घाटी में ये लोग युवकों को सेना और सरकार के खिलाफ भड़काकर पत्थरबाजी करवाते हैं.
जब पुलवामा में सेना के काफिले पर आतंकी हमला हुआ और सेना के कई जवान शहीद हो गये इसके बाद से ही सरकार ने इन अलगाववादियों के खिलाफ अपने तेवर सख्त कर लिए हैं और इन पर कार्रवाई कर रही हैं. सभी अलगाववादियों को दी जाने वाली सुरक्षा वापस ले ली गयी इस पर इन अलगाववादी नेताओं का कहना था कि उन्होंने कभी सुरक्षा की मांग ही नही की थी..


इस बात को हम सभी जानते हैं कि अलगाववादी नेता अपने अपने परिवार को जमू कश्मीर से बाहर रखते हैं. परिवार के लिए अच्छी खासी सुविधाएं देते हैं लेकिन कश्मीर के युवाओं को पैसों का लालच देकर उनसे सेना पर पत्थरबाजी करवाते हैं. देश विरोधी नारे लगवाते हैं लेकिन अब सरकार इन अलगावादी नेताओं पर कार्रवाई के मूड में दिखाई दे रही हैं और अब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट भी इनके खिलाफ जाँच कर रहा है.