कांग्रेस पार्टी में हुई बगावत, व्हिप जारी करने वाले सासंद ने ही दे दिया इस्तीफा

1177

अमित शाह ने आज राज्यसभा में जम्मू कश्मीर राज्य से अनुच्छेद 370 हटोने का प्रस्ताव पेश किया जिसका कांग्रेस पार्टी ने विरोध किया लेकिन कई विपक्षी दलों ने इस प्रस्ताव का समर्थन भी किया. इस फैसले से कांग्रेस पार्टी में ही बगावत शुरू हो गई. कांग्रेस के सासंद भुवनेश्वर कलिता ने राज्यसभा की सदस्यता और पार्टी से इस्तीफा दे दिया हैं. भुवनेश्वर कलिता को आज कश्मीर मुद्दे को लेकर व्हिप जारी करना था लेकिन उन्होंने इस्तीफा देकर पार्टी को चौंका दिया.

भुवनेश्वर कलिता ने कहा कि,आज कांग्रेस ने मुझे कश्मीर मुद्दे के बारे में व्हिप जारी करने को कहा, जबकि सच ये है कि देश का मिजाज पूरी तरह से बदल चुका है और ये व्हिप देश की जन भावना के खिलाफ है. कलिता ने जवाहरलाल नेहरू का भी जिक्र किया और कहा कि जवाहरलाल नेहरू तो खुद धारा 370 के खिलाफ थे और उन्होंने कहा था कि एक दिन ये खत्म हो जाएगा. कलिता ने आगे कहा कि आज के कांग्रेस की विचारधारा से प्रतीत होता है कि पार्टी आत्महत्या करना चाहती है और मैं इसमें भागीदार नहीं बनना चाहता हूं. मैं इस व्हिप का पालन नहीं करूंगा और मैं कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देता हूं.

गौरतलब है कि राज्यसभा में आज गृहमंत्री अमित शाह ने एक संकल्प पेश किया जिसमें जम्मू कश्मीर राज्य से अनुच्छेद 370 (1) के अलावा सभी खंडों को हटाने का प्रसताव पेश किया, और प्रस्ताव के अनुसार जम्मू कश्मीर को दो हिस्सों में बांट दिया जाएगा. इसमें जम्मू कश्मीर एक केंद्र शासित प्रदेश रहेगा, और लद्दाख दूसरा केंद्र शासित प्रदेश होगा. अमित शाह ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में विधानसभा होगी लेकिन लद्दाख में विधानसभा नहीं होगी. उन्होंने कहा कि यह कदम सीमा पार आतंकवाद के लगातार खतरे को देखते हुए उठाया गया. अमित शाह के बयान के बीच हंगामा होने के कारण सदन की कार्रवाई रोक दी गई थी. वहीं दूसरी तरफ आम जनता और देश की तमाम हस्तियों ने भी सरकार के इस फैसले का समर्थन करते हुए खुशी जताई है.