कश्मीर पर BBC का एक और घटियापन आया सामने, कश्मीर के ही अधिकारी ने लताड़ा

1516

बीबीसी अपनी घटिया पत्रकारिता के चलते कई बार लोगों के निशाने पर आ चुका है. अब बीबीसी कश्मीर में हुए आ’तंकी हमले और ट्रक ड्राईवर की ह’त्या को लेकर एक रिपोर्ट लिखी है. इस रिपोर्ट में बीबीसी उर्दू ट्रक ड्राईवर की ह’त्या को जस्टिफाई करता नजर आया लेकिन जब इस रिपोर्ट को लेकर बवाल मचा तो बीबीसी उर्दू ने अपने जस्टिफ़िकेशन को डिलीट कर दिया लेकिन तब तक जम्मू कश्मीर पुलिस में तैनात पुलिस अधिकारी इम्तियाज हुसैन इस रिपोर्ट का स्क्रीनशॉट ले चुके थे.

आइये हम आपको बताते हैं कि आखिर बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा क्या था. रिपोर्ट में लिखा था कि “सेना के जवान बड़ी तादाद में ट्रक में ट्रैवल करते हैं, जिससे वहाँ के जवानों ने यह समझ लिया कि ट्रक में सुरक्षाबल है” हालाँकि, कुछ देर बाद बीबीसी ने अपने आर्टिकल में से इस लाइन को हटा लिया. इसके बाद खुद इम्तियाज हुसैन ने ऐसे पत्रकारिता के संस्थानों को जमकर फटकारा… उन्होंने twiiter पर स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए लिखा कि बीबीसी उर्दू के पत्रकार ने पत्थरबाज की तरफ से खुद ही समझ लिया कि ट्रक में सिक्योरिटी फोर्स का कोई आदमी था, इसलिए उन्होंने उसे मा’रा. एक पत्रकार द्वारा हत्या का क्या घटिया आँकलन हैं. आज शर्म को भी शर्म से मर जाना चाहिए!! RIP पत्रकारिता.”

इसके बाद अपने अगले ट्वीट में इम्तियाज लिखते हैं कि “ये जरूरी है कि क’श्मीर की असल तस्वीर लोगों के सामने पेश की जाए क्योंकि बहुत से पाकिस्तानी लड़के है जो सोशल मीडिया पर वायरल होती ऐसी स्टोरी को पढ़ रहे है, आ’तंकी संगठन ज्वाइन करने के लिए प्रोत्साहित हो रहे हैं और फिर क’श्मीर आकर परेशानी का कारण बन रहे हैं” इम्तियाज़  घटना के बारे में जानकारी देते बोले कि घाटी में जो चार लोग मा’रे गए हैं, उनमें से एक आ’तंकवादी था और दूसरा सिपाही और दोनों ही बारामुला में हुई एक मु’ठभेड़ में मा’रे गए थे। इसके अलावा पाकिस्तानी आ’तंक’वादियों ने एक व्यक्ति की ह’त्या कर दी थी जबकि पाकिस्तान के कहने पर भड़के दंगा’इयों ने एक ट्रक ड्राइवर की पत्थरों से मा’र-मा’रकर ह’त्या कर दी थी’

 दरअसल बहुत से लोग ये समझ ही नही पाए कि बीबीसी की रिपोर्ट में लिखा क्या है, क्योंकि ये रिपोर्ट उर्दू में लिखी गयी थी. हालाँकि जब अधिकारी इम्तियाज ने बीबीसी के इस प्रोपगेंडा का खुलासा किया तो लोगों का गुस्सा फूट पड़ा. लोगों ने बीबीसी के खिलाफ एफआइआर तक दर्ज करवाने की बात कही है.

ये कोई पहला मौका नही जब बीबीसी कश्मीर को लेकर भडकाने वाली रिपोर्ट तैयार की हो या शेयर की हो. इससे पहले जब कश्मीर में सुरक्षाबलों की तैनाती बड़े पैमाने पर थी जब भी बीबीसी का एक वीडियो सामने आया था जिसपर खूब बवाल मचा था. अब कश्मीर को लेकर बीबीसी उर्दू का रिपोर्ट सवालों के घेरे में है क्योंकि रिपोर्ट में पत्थरबाजों द्वारा ट्रक ड्राईवर की हत्या को जस्टिफाई किया गया है. आप बीबीसी की इस मानशिकता के बारे में क्या सोचते हैं हमें कमेंट करके जरूर बताइए