बरखा दत्त को शहीद रतन लाल के घर जा कर उनके परिवार का हाल जानने की फुर्सत नहीं मिली लेकिन…

6629

दिल्ली दं’गों में अब तक 7 लोगों की मौ’त हो चुकी. 125 से अधिक लोग घा’यल हुए हैं. CAA विरोधी प’त्थर’बाज दं’गाइ’यों ने हेड कांस्टेबल रतन लाल की ह’त्या कर दी. दं’गाई CAA विरोधियों ने DCP अमित शर्मा को ICU में पहुंचा दिया. और आ’तंकि’यों को गरीब हेडमास्टर का बेटा बताने वाली वामपंथी मीडिया गैंग अपने काम पर लग गई. इस गैं’ग का प्रतिनिधित्व करती है मशहूर पत्रकार बरखा दत्त. बरखा दत्त इन दिनों MOJO नाम से एक यूट्यूब चैनल चलाती हैं. MOJO का मतलब होता है मोबाइल जर्नलिज्म .

बरखा दत्त के MOJO के पत्रकार दं’गों में मा’रे गए मोहम्मद फुरकान और शाहिद खान के परिवार तक पहुँच गए. उनका मार्मिक इंटरव्यू लिया और बरखा दत्त ने उसे शेयर किया. लेकिन बरखा दत्त के MOJO के पत्रकारों को इतनी फुर्सत नहीं मिली कि वो रतन लाल के घर जा कर उनके परिवार का हाल जान सकें. बरखा दत्त और उनके MOJO पत्रकारों को इतनी फुर्सत नहीं मिली कि वो ICU में ज़िन्दगी और मौ’त से जूझ रहे DCP अमित शर्मा का हाल जान सकें. फुर्सत मिलती भी कैसे? रतन लाल और DCP शर्मा का हाल दिखाने पर प्रोपगैंडा कैसे सेट होता? हो सकता है फुरकान और शाहिद प’त्थरबा’जों में से एक हो. क्योंकि सब जानते हैं कौन हैं वो लोग जिन्होंने दिल्ली को आ’ग में झोंका.

जो लोग आ’तंकि’यों के मा’रे जाने पर उनके परिवार का बैकग्राउंड ढूंढ निकालते हैं. उनसे और उम्मीद भी क्या की जा सकती है. यही बरखा दत्त हैं जो आ’तं’की बुरहान वानी के मा’रे जाने के बाद लोगों को बताती है कि वो गरीब हेडमास्टर का बेटा है. इन्ही बरखा दत्त के पास इतना वक़्त नहीं, इतनी हिम्मत नहीं कि दं’गा’ई CAA विरोधियों की हिं’सा का शिकार हुए रतन लाल और DCP शर्मा के परिवार की आपबीती दिखा सकें.