CAA और NRC के डर से रात के अँधेरे में भाग रहे बांग्लादेशी

दशकों से भारत में रह रहे अवैध बांग्लादेशियों में ड’र का माहौल है. ड’र का माहौल है CAA और NRC की वजह से. CAA अब क़ानून बन चूका है. हालाँकि अभी NRC सिर्फ असम में लागू है पुरे देश में नहीं लेकिन इसको लेकर पुरे देश में अ’वैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों में खौ’फ का माहौल है और वो रातों रात अपना सब कुछ समेत कर वापस अपने देश लौट रहे हैं. उन्हें लगता है कि अगर समय रहते वो न लौटे तो अपना सब कुछ गँवा देंगे और उन्हें दर दर भटकना पड़ेगा.

बांग्लादेश बार्डर गार्ड्स (बीजीबी) ने ऐसे सैकड़ों लोगों को पकड़ा है जो बॉर्डर पार कर बांग्लादेश में घुस रहे थे. जो लोग पकडे गए हैं उनसे बांग्लादेश पुलिस पूछताछ भी कर रही है और जांच भी कर रही है कि वो क्यों आ रहे हैं बॉर्डर पार से. बॉर्डर पार कर बांग्लादेश में घुसने वालों की संख्या ज्यादा है और सुरक्षित बांग्लादेश में घुसने के लिए वो रात होने का इंतज़ार करते हैं.

हालाँकि बांग्लादेश पूरी कोशिश कर रहा है कि ये लोग उसकी सीमा में न घुस पायें. लेकिन सीमा पार से आने वालों की संख्या इतनी ज्यादा है कि लोगों को रोकना कठिन हो रहा है. इसलिए बीजीबी ने बांग्लादेश के सीमावर्ती गांव के लोगों को साथ मिलकर एक सुरक्षा कमेटी भी गठित की है, जो बांग्लादेश में प्रवेश कर रहे लोगों पर नजर रख रही है.

भारत-बांग्लादेश सीमा पर बड़े इलाके में तारों की फेसिंग और लाईट नहीं है. इस कारण लोग रात के अँधेरे में बॉर्डर पार करने में सफल हो रहे हैं. कहा जा रहा है कि बांग्लादेश वापस जाने वालों में अधिकतर मजदूर हैं जो रोजी-रोटी के लिए भारत में घुस आये थे लेकिन उनके पास कोई वैध दस्तावेज नहीं है इसलिए वो वापस बांग्लादेश लौट रहे हैं.

Related Articles