दिल्ली में विधानसभा चुनाव हो गये हैं जिनके नतीजे 11 फरवरी को आने हैं. अब बीजेपी ने अपनों आगे की रणनीतियों पर काम करना शुरू कर दिया है. वहीं दूसरी तरफ झारखंड में पिछले काफी दिनों से सियासी चहलकदमी का दौर चल रहा था. इसी बीच झारखंड से एक ऐसी खबर आ रही है जो विरोधियों को सकते में पहुंचा सकती है.

जानकारी के लिए बता दें झारखंड विकास मोर्चा के अध्यक्ष बाबू लाल मरांडी ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और झारखंड के चुनाव प्रभारी ॐ प्रकाश माथुर के साथ मुलाकात करके हलचल बढ़ा दी है. उनकी इस मुलाकात के बाद से एक बात तो साफ़ हो गयी है कि वह जल्द ही बीजेपी में अपनी वापसी कर सकते हैं.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 17 फरवरी को विकास झारखंड मोर्चा का बीजेपी में विलय हो सकता है. वहीं ये भी बताया जा रहा है कि जेवीएम का बीजेपी में विलय हो जाने से बाबूलाल मरांडी को झारखंड में कोई और बड़ी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा सकती है. बाबूलाल ने पिछले दिनों में अपनी पार्टी की नई कार्यकारिणी बनाई थी जिसमें उनके करीबियों को महत्वपूर्ण पद दिए गये थे.

गौरतलब है कि झारखंड में हुए विधानसभा चुनावों में विकास मोर्चा को तीन सीटों पर जीत मिली थी वहीं दो विधायक प्रदीप यादव और बंधु टर्की को निकाल दिया था. इन्हें निकालने की वजह ये थी कि इन्होने हेमंत सोरेन को समर्थन दिया था. बाबूलाल मरांडी झारखंड में बीजेपी के दिग्गज नेता माने जाते थे और प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री भी थे.