जेल में बंद आजम खान की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के मामले में जेल में बंद आजम खान को एक के बाद एक बड़ा झटका लगता जा रहा है. रामपुर से समाजवादी पार्टी सांसद और पूर्व सरकार में मंत्री रहे आजम खान पर एक के बाद एक बड़े मामले सामने आ रहे हैं. पिछले काफी समय से अपनी जौहर यूनिवर्सिटी के विवादों को लेकर आजम खान चर्चा में हैं. अब उन पर एक मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

जानकारी के लुए बता दें सांसद आजम खान पर शत्रु संपत्ति कब्जाने का मुकदमा दर्ज हुआ है. राजस्व निरीक्षक मनोज कुमार की तहरीर पर अजीम नगर थाने में मुकदमा दर्ज किया है. दरअसल आजम खान पर उनकी जौहर यूनिवर्सिटी की चारदिवारी पर कब्ज़ा करने के आरोप है. जिसके चलते आईपीसी की धारा 447 और सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान निवारण के तहत उन्हें बड़ा झटका देते हुए एक और मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

आजम खान इन दिनों अपने परिवार के साथ जेल में हैं. इससे पहले आजम खान पर पूर्व सरकार में जल निगम में हुई भर्ती में अनियमितताओं के बरतने और घोटाले का भी आरोप लगा है, जिसके चलते योगी सरकार ने जल निगम में हुई भर्ती को रद्द कर दिया था. वहीं लोगों और सरकारी संपत्ति पर बनी जौहर यूनिवर्सिटी के कब्जे को भी मुक्त करवाया जा रहा है और लोगों को उनकी जमीन भी वापस दी जा रही है.

गौरतलब है कि आजम खान इस समय बुरे फंस गये हैं. कई बड़े आरोप के चलते उनकी जमानत याचिका भी रद्द ही गयी थी. वहीं योगी सरकार आजम खान के ड्रीम प्रोजेक्ट जौहर यूनिवर्सिटी को भी अपने कब्जे में लेने की तैयारी कर रही है. रामपुर जिला प्रशासन ने शासन को जौहर यूनिवर्सिटी का शासकीय नियंत्रण में लेने का प्रस्ताव भेजा है, इतना ही नहीं इससे पहले एसडीएम सदर ने जौहर ट्रस्ट के अध्यक्ष आजम खान और सचिव को नोटिस भेजकर जवाब भी माँगा था लेकिन आजम खान की तरफ से कोई भी जवाब नहीं दिया गया है, जिसके बाद एसडीएम सदर ने जिलाधिकारी को अपनी रिपोर्ट भी सौंप दी है.