उत्तरप्रदेश के अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर को लेकर भी अब इंतजार खत्म होता जा रहा है. सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद केंद्र सरकार ने राम जन्मभूमि न्याय ट्रस्ट का ऐलान भी कर दिया था जिसकी निगरानी में निर्माण कार्य पूरा होगा. पिछले काफी समय से पहले अटकलें चल रही थी कि इस दिन से मंदिर का निर्माण होगा. अब वो तारीख भी सामने आ गयी है. मंदिर निर्माण के भूमि पूजन को लेकर अब बहुत बड़ी खबर आ रही है.

जानकारी के लिए बता दें सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि 30 अप्रैल को मंदिर निर्माण का भूमि पूजन किया जायेगा. वहीं ये भी बताया जा रहा है कि ट्रस्ट इस आयोजन में शामिल होने के लिए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और पीएम नरेंद्र मोदी को निमंत्रण देगा जिसके चलते बड़े ही धूमधाम से ये काम शुरू किया जा सकें. मंदिर निर्माण की भूमि पूजन के समय एक और खास काम होने जा रहा है जिसे जानने के बाद आप भी सोच में पड़ जाओगे.

भूमि पूजन के समय देश की हर पवित्र नदी का जल भी लाया जाएगा. इतना ही नहीं सभी तीर्थों की मिट्टी भी लाई जाएगी. इससे पहले 25 मार्च को प्रभु श्री राम की मूर्ति टेंट से हटाकर अस्थायी राम मंदिर में मूर्ति स्थापित की जाएगी. 25 मार्च को रामलला के प्राण प्रतिष्ठा वाले कार्यक्रम के लिए योगी सरकार ने विशेष इंतजाम किये हैं. इस कार्यक्रम के दौरान ट्रस्ट के सदस्यों के साथ खुद सीएम योगी भी मौजूद रहेंगे.

गौरतलब है कि 25 मार्च को नवरात्र का पहला दिन है जिसके चलते प्रसाद के लिए विशेष फलहार की व्यवस्था की जा रही है. वहीं रामलला के भोग में भी फलहार का सेवन किया जायेगा. वहीं बताया जा रहा है कि इस बार रामनवमी पर रामलला के जन्म को पहली बार टीवी पर लाइव टेलीकास्ट करने का भी विचार किया जा रहा है. ट्रस्ट इस काम के लिए सरकार के साथ मंथन कर रहा है. अगर ऐसा होता है तो पहली बार देश और दुनिया की जनता रामलला के दर्शन टीवी पर ही कर सकेगी.