पड़ोसी देश के कलाकारों पर होगी कारवाई

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती आतंकी हमले में कई दर्जन CRPF जवान शहीद हुए हैं. जवानों की शहादत के बाद देशभर से कड़ी प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. बॉलीवुड के तमाम बड़े सितारों ने भी हमलों की तीखी आलोचना की है. अब यह क्रोध की आग पाकिस्तानी कलाकारों तक पहुंच गई है. इस दौरान भारतवासी लगातार सरकार को इस हमले का बदला लेने के लिए मांग कर रहे है वही देशवासियों ने हाल ही में इस मामले के बाद पाकिस्तानी सिंगर्स को भी भारत में बैन करने की मांग की है।पाकिस्तानी स्टार्स और सिंगर्स बॉलीवुड से पैसा कमाकर ले जाते हैं और फिर उन पैसों का इस्तेमाल भारत की सेना के खिलाफ किया जाता है। आपको बता दे ये मामला पिछले काफी दिनों से चर्चा में है कुछ दिन पहले ही कंगना ने भी पाकिस्तानियों के खिलाफ अपना बयान दिया था।

कंगना ने कहा था कि- पाकिस्तानी कलाकार जो इंडिया से मोटी रकम लेकर जाते हैं उसका इस्तेमाल हमारे ही देश और आर्मी के खिलाफ होता है।पाकिस्तानी कलाकार जो टैक्स चुकाते हैं उसका बड़ा हिस्सा उनकी आर्मी को जाता है और फिर वो भारत की सेना का नुकसान करते हैं।कंगना का ये बयान सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था। एक तरफ भारतीय सिंगर्स बॉलीवुड फिल्मों में पाकिस्तानी आर्टिस्ट्स के कंप्लीट बैन की मांग करते हैं,वही इस मामले में उन्हें लगता है इंडियन सिंगर्स को काम नहीं मिलता है। तो वहीं कई लोगों को लगता है कि राहत फतेह अली ख़ान और आतिफ असलम जैसे पाकिस्तानी सिंगर्स के साथ काम करना बिल्कुल भी ग़लत नहीं है।

उसके बाद अब खबरे हैं की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने देश की सभी म्यूजिक कंपनियो से कहा है कि वह पाकिस्तानी सिंगर्स के साथ काम करना बंद करें. इन कंपनियों में टी सीरीज, सोनी म्यूजिक, वीनस, टिप्स म्यूजिक शामिल है. उन्होंने आगे कहा कि अगर कंपनियां ऐसा नहीं करती हैं तो हम अपने स्टाइल में भी एक्शन लेने के लिए तैयार है.हाल में भूषण कुमार की टी सीरीज कंपनी ने राहत फतेह अली खान और आतिफ असलम के साथ दो अलग-अलग गानों के लिए टाइअप किया है.पुलवामा में आतंकी घटना के बाद आतिफ के बारिशे गाने को यूट्यूब अप अनलिस्टेड कर दिया गया है.

गौरतलब है कि 2016 में उरी अटैक के बाद राज ठाकरे की पार्टी ने भारत में काम करने वाले पाकिस्तानी कलाकारों को 48 घंटे का समय दिया था कि वह देश छोड़कर चले जाए. उस दौरान ऐसे कई पाकिस्तानी कलाकार थे,जो भारत छोड़कर चले गए. फवाद खान, माहिरा खान, अली जफर जैसे कई पाकिस्तान एक्टर्स ने दोबार भारत की तरफ रुख नहीं किया.वही इस बैन की बात को सुनकर सोनू निगम ने अपने एक बयान में कहा था कि- ‘कई बार मुझे लगता है कि काश मैं पाकिस्तान से होता, तो मुझे भारत से ज्यादा ऑफर्स मिलते। साथ ही सोनू ने आगे कहा कि,आजकल सिंगर्स को शोज करने के लिए म्यूजिक कंपनी को पैसे देने पड़ते हैं। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो वो किसी और सिंगर को ले आएंगे और फिर आप पीछे रह जाएंगे।

लेकिन पाकिस्तानी सिंगर्स के साथ ऐसा नहीं होता है। आतिफ असलमजो मेरे दोस्त हैं और राहत फतेह अली खान इनसे कंपनी किसी शोज के पैसे नहीं मांगती हैं। गौरतलब है आजकल सोनू निगम को इंडस्ट्री में काम नहीं मिल रहा है ऐसे में सोनू ने कहा था कि इंडिया में सिंगर्स को कम तवज्जो मिल रही है औऱ पाकिस्तानी सिंगर्स को ज्यादा बढ़ावा दिया जा रहा है। सोनू का कहना है कि अगर वो पाकिस्तान से होते तो शायद उन्हें ज्यादा गाने मिलते। सिर्फ इतना ही नहीं आपको बता दें ऐसा सोनू ने इसीलिए कहा है क्योंकि आतिफ असलम और राहत फतेह अली खान जैसे सिंगर्स को बॉलीवुड में गाने का मौका मिल रहा है। खैर अब क्या इस हमले के बाद वाकई में पाकिस्तानियों को भारत में काम नहीं मिलेगा या नहीं ये तो आने वाला कल ही बता पाएगा।

Related Articles

20 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here