असम से आई अच्छी खबर, सैकड़ों उ’ग्रवा’दियों ने कर दिया आत्मसमर्पण

1209

लम्बे समय से उग्रवाद की मार झेल रहे पूर्वोत्तर के राज्य असम से एक अच्छी खबर आई. बड़ी संख्या में उ’ग्रवा’दियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर सार्वजनिक जीवन में कदम रखा.  8 प्रति’बं’धित संगठनों के 644 उ’ग्रवा’दियों ने 177 ह’थिया’रों के साथ गुरुवार को मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनेवाल की उपस्थिति में आत्मसमर्पण किया. आत्मसमर्पण करने वाले उग्रवादियों में उल्फा, सीपीआई (माओवादी), एनएसएलए, एडीएफ, एनएलएफबी, एनडीएफबी, आरएनएलएफ, और केएलओ के सदस्य शामिल थे.

उ’ग्रवा’दियों ने ए’के 47, ए’के-56 जैसे कई अत्याधुनिक हथियार पुलिस को सौंपे. अब इन उ’ग्र’वादियों को असम पुलिस में नौकरी दी जायेगी. इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक ज्योति महंता ने पत्रकारों से कहा, ‘राज्य के लिए और असम पुलिस के लिए यह एक महत्वपूर्ण दिन है.

राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. उससे ठीक पहले इतनी बड़ी संख्या में उ’ग्र’वा’दियों का आत्मसमर्पण पुलिस के साथ साथ सरकार के लिए एक बड़ी उपलब्धि है. सरकार की कोशिश है कि समाज की मुख्यधारा में लौट है इनलोगों का पुनर्वास अब सही तरीके से किया जाए ताकि इन्हें देख कर दुसरे भी हथियार छोड़ नए जीवन की शुरुआत का हौसला दिखा सकें. उ’ग्रवा’दियों के आत्मसमर्पण से राज्य में शांति की उम्मीदें बढ़ गई है,