बिहार धीरे-धीरे चर्चा का विषय बनता जा रहा है. कल की बात करें तो बिहार में महागटबंधन के बीच कल हुई बैठक में विपक्षी पार्टीयों के नेताओं ने तेजस्वी यादव को मुख्यामंत्री का चेहरा मानने से मना कर दिया है. तो एक तरह से देखा जाये तो बिहार में अभी से चुनाव को साधने की तैयारी विपक्षी पार्टीयों ने शूरु कर दी है. वहीं कल बिहार के सीवान जिले में राज्यपाल समेत राज्य सरकार के कई मंत्री एक अस्पताल का शिलान्यास करने पहुँचे थे. वहां पर जो भी जा रहा था उस हर शक्स की तलाशी ली जा रही थी और वीआईपी के भी अंदर जाने पर कड़ी नज़र रखी जा रही थी.

इसी बीच जब बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे और संस्कृति मंत्री प्रमोद कुमार गुप्ता जाने की बारी आई तो वहां मौजूद एएसआई गणेश चौहान ने उन्हे रोक लिया. उसके बाद बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे एक पुलिस अधिकारी पर गुस्सा करते हुए दिखे. मंगल पांडे सीवान में एक अस्पताल के शिलान्यास का कार्यक्रम में गये थे. उस कार्यक्रम में शामिल होने राज्यपाल समेत कई मंत्री और दूसरे लोग भी पहुंचे थे. इस दौरान एक पुलिस अधिकारी गणेश चौहान ने मंत्री को नहीं पहचान सके और उन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया इस पर बवाल मच गया और मंगल पांडे भड़क गए, उन्होंने तत्काल उस ऑफिसर को सस्पेंड करने को कहा.

सूत्रो, की रिपोर्ट के मुताबिक गुरुवार को बिहार में एक अस्पताल का शिलान्यास करने पहुंचे थे. वहां पर हर किसी की सुरक्षा के मद्देनजर सबकी तलाशी ली जा रही थी. मंत्री हो या वीआईपी सब लोगो के अंदर जाने पर कड़ी नजर रखी जा रही थी. इसी बीच बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे और संस्कृति मंत्री प्रमोद कुमार गुप्ता की अंदर जाने की बारी आई तो उनको गेट पर रोक लिया गया. उसके बाद मंगल पांडे आग-बबूला हो गये और उन्होने आदेश दिया कि पुलिस ऑफिस को तुरंत सस्पेंड कर.