अब यह देश भी हुआ पीएम मोदी का मुरीद, ट्वीट कर कह दी इतनी बड़ी बात

देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया इस समय कोरोना जैसी महामारी से जूझ रही है. केंद्र सरकार और राज्य सरकारें लगातार एक के बाद एक करके बड़े कदम उठा रही हैं ताकि इस संकट के दौर से निकला जा सके लेकिन हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं. पूरे देश में 3 मई तक के लिए लॉकडाउन चल रहा है. इसके बावजूद भी मरीजों की संख्या में हर दिन जबरदस्त उछाल आ रहा है.

जानकारी के लिए बता दें भारत में अब कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 18 हजार के पार हो गयी है. हर दिन हजार से ज्यादा लोग बढ़ रहे हैं. कोरोना से लड़ाई के खिलाफ़ बेहतरीन प्रदर्शन के चलते भारत पूरी दुनिया में छाया हुआ है. भारत में अब तक 3 हजार से ज्यादा मरीजों को ठीक भी किया गया है. वहीँ भारत इस संकट की घड़ी में अन्य देशों के लिए भी उम्मीद की किरण बनकर उभर रहा है. भारत ने ऐसे समय में भी अमेरिका सहित कई देशों को मलेरिया रोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन भेजी है जोकि कोरोना के इलाज में कारगर साबित हो रही है.

भारत ने जब अमेरिका को यह दवा पहुंचाई तो अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पीएम मोदी की तारीफ में पुल बाँध दिए थे और उनका आभार जताया था. वहीँ इसी बीच एक बड़ी खबर अफगानिस्तान से आ रही है. अब अफगानिस्तान भी पीएम मोदी का मुरीद हो गया है. राष्ट्रपति अशरफ गनी ने मदद के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा किया है. दरअसल भारत ने अफगानिस्तान के लिए दवा और खाद्ध साम्रग्री भेजी थी.

Afghanistan’s President, Ashraf Ghani speaks during the integration ceremony of TAPI pipeline in Herat city, west of Kabul, Afghanistan, Friday, Feb. 23, 2018. Afghanistan’s president and Pakistan’s prime minister launched a 1,814 kilometer (1,130 mile) gas pipeline on Friday that will feed Turkmenistan gas to Afghanistan, as well as Pakistan and eventually to India. (AP Photo/Hamed Sarfarazi)

गौरतलब है कि इस मुश्किल परिस्थिति में दवा और राहत सामग्री मिलने के चलते अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने पीएम मोदी को धन्यवाद कहा है और ट्वीट किया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘प्रिय मित्र नरेंद्र मोदी, हमें 500K (5 लाख) हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन टेबलेट, 100K (एक लाख) पैरासीटामोल टैबलेट और 75,000 मीट्रिक गेंहू भेजने के लिए धन्यवाद. गेंहू की पहली खेप जल्द ही अफगान के लोगों के लिए पहुंच जाएगी’. अफगानिस्तान से आये इस संदेश के बाद पीएम मोदी ने उन्हें जवाब देते हुए लिखा कि ‘भारत और अफगान कई मायनों में खास मित्र हैं. जिस तरह से हम संयुक्त रूप से आतंकवाद से लड़ रहे हैं, ठीक वैसे ही हम कोरोना के खिलाफ भी एकजुटता से लड़ेंगे’.