बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने गहलोत सरकार पर लगाये गं’भीर आ’रोप

192

देश में लॉकडाउन होने के बाद ट्रेन, फ्ला’इट्स, बसे सभी चीजे बंद कर दी गयी थी. जिसकी वजह से लोगो को काफी दि’क्कतें हुई. जो जहाँ था वो वहीं फं’सा रह गया. ऐसे में सबसे ज्यादा दिक्क’तों का सामना मजदू’र वर्ग और स्टूडें’ट्स को ही करना पड़ा. क्यूंकि का’मकाज सब ठ’प हो गया और स्कूल कॉलेज भी बंद होने से जो स्टू’डेंट जहाँ थे उन्हें रही रहना पड़ा.

वही लॉक डाउन के बाद सबसे पहले कोटा का मामला सामने आया था. जहाँ स्टूडेंट्स ने सरकार से गु’हार लगायी थी. जिसके बाद UP सरकार ने रातों रात बच्चो को राजस्थान के कोटा से निकाला था. तो कुछ बच्चे बिहार के थे. जिसके लिए उन्होंने अपनी सरकार से मदद मांगी. जिस पर अब विहार के डिप्टी CM सुशील कुमार मोदी ने राजस्थान सरकार पर आरो’प लगाते हुए कहा कि राजस्थान के कोटा में फं’से बिहार के छात्रों को वापस लाने के लिए कांग्रेस और राजद ने बस भेजने और ट्रेन का किराया देने की बड़ी-बड़ी बातें कीं. लेकिन सब दिखावा साबित हुआ.

साथ ही उन्होंने ये भी आरो’प लगाते हुए कहा कि कोटा से 18 हजार छात्रों की वापसी के लिए जब 13 विशेष ट्रेनों की व्य’वस्था की गई. तब वहां की कांग्रेस सरकार ने छात्रों के किराये के एक करोड़ रुपये बिहार सरकार से जमा कराने के बाद ही ट्रेन खुलने दी. वही राहुल गाँधी पर भी निशा’ना साध’ते हुए कहा कि दूसरी तरफ राहुल गांधी की चुनावी प्र’तिष्ठा बचाने वाले केरल के लोगों को बिहार से वापस भेजने के लिए कांग्रेस ने तीन बसों का किराया चुकाया.

इसके अलावा सुशील कुमार मोदी ने लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल को घे’रते हुए सवाल किया कि कांग्रेस अगर बिहारी छात्रों के लिए वसू’ले गए 1 करोड़ रुपये नहीं लौटाती है तो क्या लालू प्रसाद बिहार में इस पार्टी से गठबंध’न तो’ड़ेंगे?. जाहिर है. सुशील कुमार मोदी के इन आरो’पों के बाद से कांग्रेस सरकार अब घेरे में आ गयी है.