बिगड़ते हालातों को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने लिया बड़ा फैसला, कहा नहीं मिलेगी किसी भी तरीके की छूट

535

आज सभी लोग कोरोना वायरस जैसी भयंकर महामारी से जूझ रहे है. जिसकी वजह से देशभर में लॉक डाउन बढ़ा दिया गया है. जिसकी वजह से सभी काम काज भी ठप हो गए है. वही दूसरी तरफ लोगो को काफी दिक्कतें भी हो रही है. लेकिन इस समय घर ने रहने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के अलावा किसी के पास कोई और दूसरा विकल्प नहीं है. जिसकी वजह से लॉक डाउन की अवधि को भी बढ़ने की जरूरत पड़ी.

वही दिल्ली में भी कोरोना अपना कहर बरसा रहा है. जिसकी वजह से अभी तक महाराष्ट्र के बाद दिल्ली दूसरे स्थान पर है जहाँ सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आये है. इसी के कारण मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि राजधानी में कोरोना तेजी से फैल रहा है लेकिन स्थिति नियंत्रण से बाहर नहीं है. घबराने की जरूरत नहीं है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि फैसला लिया गया है कि लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में किसी तरह की छूट नहीं दी जाएगी. हालातों को देखते हुए लॉक डाउन जरुरी है.

वहीं केजरीवाल ने कहा कि शनिवार को दिल्ली में मिले सभी 186 मरीजों में कोरोना के लक्षण नहीं दिखे. उन्हें पता ही नहीं था कि उन्हें कोरोना वायरस है. यह ज्यादा चिंताजनक है. जाहिर है देशभर में कोरोना वोइरुस से संक्रमित लोगो की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है. ऐसे में हालातों पर काबू पाना बहुत जरुरी हो गया है और लॉक डाउन करना भी बेहद जरुरी है. इसके अलावा दिल्ली में 1900 के करीब कोरोना संक्रमित लोग सामने आ चुके है. जिसकी वजह से स्थिति और ख़राब हो गयी है. इन्ही हालातों को देखते हुए केंद्र और प्रदेश सरकार दोनों मिल कर कड़े कदम उठा रहे है.