अर्नब केस की सुनवाई के दौरान कांग्रेस के वकील कपिल सिब्बल की हो गई फजीहत, जज ने कहा ‘लगता है आप भूल गए…

38388

अर्नब गोस्वामी मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस को झटका देते हुए अर्नब गोस्वामी को बड़ी राहत दे दी. लेकिन उससे पहले विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हुई सुनवाई में दोनों पक्षों की तरफ से जोरदार दलीलें दी गई. अर्नब गोस्वामी की तरफ से मुकुल रोहतगी मैदान में थे जबकि कांग्रेस की तरफ से वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल.

अर्नब ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर अपने खिलाफ दर्ज FIR रद्द करे की मांग की थी. अर्नब की तरफ से दलीलें पेश करते हुए मुकुल रोहतगी ने कहा कि अर्नब तो सिर्फ पालघर मामले में पुलिस की भूमिका पर सवाल उठा रहे थे. अर्नब के खिलाफ मामले सिर्फ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने ही दर्ज कराये हैं. इसलिए ये सिर्फ कांग्रेस की छवि खराब करने से जुड़ा आरोप है.

इसपर महाराष्ट्र सरकार की तरफ से पेश हुए वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि क्या यही बोलने की आज़ादी है. इस तरह का बयान दे कर अर्नब साम्प्रदायिक हिं’सा भड़काने का काम कर रहे हैं. अगर FIR हुई है तो जांच हो जाने दीजिये. इतनी जल्दी इसे रद्द करने का क्या औचित्य है?

इस पर मुकुल रोहतगी ने कहा कि अर्नब कोई राजनैतिक व्यक्ति नहीं है. वो मीडिया से जुड़े हैं और उन्हें सवाल करने का अधिकार है. उन्हें दर्ज हुई शिकायतों से सुरक्षा मिलनी चाहिए. इस पर कोर्ट ने कपिल सिब्बल की दलीलों को खारिज करते हुए कहा, ‘लोकतंत्र में आप अभिव्यक्ति की आजादी का गला पुलिस के डंडे से नहीं दबा सकते.’

कपिल सिब्बल ने यह दलील दिया अर्नब गोस्वामी का विपक्ष की नेता से सवाल पूछना गलत है. तब मुकुल रोहतगी ने कहा कानून व्यवस्था राज्य सरकार के अंतर्गत आता है और महाराष्ट्र में कांग्रेस सत्ता में भागीदार है इसलिए सोनिया गांधी से सवाल पूछना जायज है. इस पर फिर जज साहब की भी हंसी छूट गई. जस्टिस ने कहा हँसते हुए कपिल सिब्बल से कहा ‘लगता है आप भूल गए कि महाराष्ट्र में आप की सरकार है.’