अर्नब गोस्वामी ने लाइव शो में बरखा दत्त की उड़ाई धज्जियाँ

1408

देश में असहिष्णुता गैंग एक बार फिर सक्रीय हो गया है . 24 जुलाई को इस गैंग के 49 सदस्यों ने मॉब लिंचिंग के खिलाफ पीएम मोड़ू को एक ख़त लिखा . फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप, इतिहासकार रामगुहा जैसे कई बड़े नामों ने इस चिट्ठी पर अपना हस्ताक्षर किया था . जिस दिन ये चिट्ठी लिखी गई उसी दिन असहिष्णुता गैंग के कुछ सदस्यों ने एक प्रेस कांफ्रेंस किया और मॉब लिंचिंग के खिलाफ सरकार द्वारा कोई कदम नहीं उठाने पर आलोचना की .

इस प्रेस कांफ्रेंस में कई चैनलों के रिपोर्टर उपस्थित थे . अर्नब गोस्वामी ने फोन के जरिये असहिष्णुता गैंग के सदस्यों से कुछ सवाल किया लेकिन वो लोग अर्नब के किसी भी सवाल का ठीक तरीके से जवाब नहीं दे पाए . लाइव शो पर ही अर्नब गोस्वामी ने उन लोगों की बोलती बंद कर दी .

अर्नब असहिष्णुता गैंग को एक्सपोज कर रहे थे लेकिन पत्रकार बरखा दत्त को ये पसंद नहीं आया . उन्होंने ट्वीट कर के अर्नब के इस हरकत की निंदा कर दी . बरखा दत्त ने अर्नब गोस्वामी पर निशाना साधते हुए अपने ट्वीट में लिखा ‘जो कोई भी इस तरह की स्तरहीन और खतरनाक पत्रकारिता को बढ़ावा दे रहा है, उसे किसी की पत्रकारिता की आलोचना करने का कोई अधिकार नहीं है। अगर यह पत्रकारिता है, तो मैं इस देश की प्रधानमंत्री हूँ’।

अर्नब गोस्वामी ने बरखा दत्त के हमले का जवाब देने में एक भी भी नहीं गंवाया . उन्होंने लाइव टीवी पर ही बिना नाम लिए बरखा को जवाब देते हुए कहा – “वो लोग जो अभी बेरोजगार हैं, और शायद जो स्थायी तौर पर बेरोजगार हो चुके हैं, आज वो हम पर अपना ओपिनियन दे रहे हैं’। क्या ऐसे करके उन्हें नौकरी ढूँढने में सहायता मिल सकती है? हालांकि, तब तक वे किसी बकवास अमेरिकी अखबार के लिए 500 डॉलर की एवज में अपना बिकाऊ लेख तो छाप ही सकती हैं’।“

अर्नब का ये जवाब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया . दरअसल बरखा को बेरोजगार बता कर उन्होंने बरखा दत्त और कपिल सिब्बल के बीच तिरंगा टीवी विवाद पर तंज कसा था .