भारी बर्फ़बारी के बीच सेना के 100 जवानों ने गर्भवती महिला को इस तरह पहुँचाया अस्पताल

भारतीय सेना के जवान युद्ध के मैदान में तो अपना शौर्य दिखाते ही है. मानवता की मिसाल भी पेश करते हैं. कुछ ऐसा ही तस्वीरें आई जमू कश्मीर से, जहाँ सेना की मानवता और शौर्य देख हत्र को सलाम कर रहा है. भारी बर्फ़बारी से थम चुके कश्मीर में सेना के 100 जवाब एक गर्भवती महिला को 4 किलोमीटर दूर अस्पताल ले कर पहुंचे और वहां उसकी सफलतापूर्वक डिलीवरी कराई.

अस्पताल तक पहुँचने के लिए जवानों को कमर तक बर्फ में चार घंटे तक चलना पड़ा. लेकिन उन्होंने महिला को चारपाई पर लिटा कर चारपाई को कन्धों पर उठाया और चल पड़े अस्पताल की ओर. घाटी में इन दिनों भारी बर्फबारी हो रही है, जिसकी वजह से कमर तक बर्फ गिरी हुई है. इसी बीच शमीमा नाम की गर्भवती महिला को प्रसव का दर्द उठा. शमीमा जिस गाँव में रहती हैं वहां अस्पताल की सुविधा नहीं थी. इसके बाद ग्रामीणों ने सेना को मदद के लिए बुलाया.

सेना के 100 जवान और 30 ग्रामीण लगातार चार घंटे तक बर्फ में चलते हुए शमीमा को अस्पताल पहुँचाया, जहाँ शमीमा ने बच्चे को जन्म दिया. माँ और बच्चा दोनों सुरक्षित हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस वीडियो को ट्वीट किया और सेना के जवानों को सलाम किया. पीएम मोदी ने शमीमा और उनके बच्चे की अच्छी सेहत की कामना की.  

Related Articles