अंबानी और अरामको ने मिलकर पा’किस्तान को दिया बहुत बड़ा झटका! पढ़िए पूरी खबर

1259

पाकिस्तान को बुरे वक्त में सहयोग और आर्थिक मदद करने वाले साउदी अरब ने ही अब पाकिस्तान को बहुत बड़ा झटका दिया है. जिसे भारत की बहुत बड़ी कूटनीतिक जीत मानी जा रही है. मदद के लिए हाथ फैलाए खड़े आतंकियों के गढ़ पाकिस्तान को शायद इससे बड़ा झटका अब तक न मिला हो. दरअसल रिलायंस इंडस्ट्रीज अपने तेल एवं रसायन कारोबार में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी सऊदी अरब की प्रमुख तेल कंपनी अरामको को बेचेगी. यह सौदा करीब 15 अरब डॉलर में पूरा होने की उम्मीद है. अंबानी ने कहा कि समझौते के तहत दीर्घावधि के लिए अरामको रिलायंस की गुजरात के जामनगर स्थित दोनों रिफाइनरियों को प्रतिदिन 7 लाख बैरल कच्चे तेल की आपूर्ति भी करेगा, यहाँ आपको ये जानना बहुत जरूरी है कि कश्मीर से धारा 370 हटाये जाने के बाद जहाँ पाकिस्तान पूरी दुनिया से मदद माँगता फिर रहा है, कोई भी मुस्लिम देश पाकिस्तान के समर्थन में नही आया. वहीँ उसे साउदी अरब से भी धोखा मिला है.

भारत के साथ सारे व्यापारिक रिश्ते ख़त्म करने वाले इमरान के सामने ही साउदी अरब भारत के बड़े कारोबारी के साथ हिस्सेदारी कर रहा है जो पाकिस्तान के लिए एक बड़ा झटका है. भारत की कूटनीति का ही नतीजा है कि एक तरफ जहाँ पाकिस्तान पूरे विश्व से मदद मांगने पर मजबूर हुआ है तो वहीँ उसका ही सबसे करीबी और मुस्लिम देश साउदी अरब भारत के साथ अपना कारोबार बढ़ा रहा है. एक बात और आपको बताना चाहता हूँ कि जो तेल साउदी अरब से भारत आएगा उन्हें गुजरात के जामनगर में रिफाइनरी में रखा जायेगा. जो पाकिस्तान के बेहद नजदीक है. युद्ध की स्थिति में अक्सर दुश्मन ईधन और खाद्य पदार्थ पर नजर रखते है और उसे बर्बाद करने की कोशिश करते है लेकिन जामनगर में बने रिफाइनरी को पाकिस्तान देखने की हिम्मत नही कर पायेगा क्योंकि इसके पीछे दो कारण है पहला अगर उसने छेड़छाड़ की तो भारत के साथ साथ पाकिस्तान के लिए भी नुकसानदायक ही होगा …दूसरा जो सबसे महत्वपूर्ण है वो ये है कि रिलायंस जिसकी कम्पनी जामनगर में है उसमें अब साउदी अरब की कम्पनी की भी भागीदारी है जिसके टुकड़े पर पाकिस्तान पल रहा है, पाकिस्तान कभी भी अपने मालिक के बाजार को खत्म नही करेगा और ना ही ऐसा करने की हिम्मत कर पायेगा. यहाँ आपको बता दें कि साउदी अरब अब भारत को तेल सप्लाई करेगा जिससे भारत तेल के लिए अन्य देशों पर ही निर्भर नही रहेगा.

वहीँ पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे को लेकर पूरे विश्व से समर्थन मांगने की कोशिश कर रहा है लेकिन भारत की कूटनीति के आगे पाकिस्तान की एक भी नही चली, उल्टा पाकिस्तान को झटके पर झटका झेलना पड़ रहा है. आपको पता है कि कश्मीर के मुद्दे को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ट्रम्प से मुलाक़ात करने पहुंचे थे, पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक़ ट्रंप के साथ इमरान की मीटिंग सऊदी अरब के प्रिंस ने ही फिक्स करवाई थी लेकिन अब वही सऊदी अरब पाकिस्तान के दर्द को दरकिनार कर दिया है.

 भारत के समर्थन में uae पहले से खड़ा रहा है और अब साउदी अरब भी भारत के साथ अपने रिश्ते सुधार रहा है जो पाकिस्तान के लिए बिलकुल अच्छी खबर नही है.

खैर आगे बढ़ते हैं रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी ने कहा है कि उनका समूह जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख के विकास के लिए प्रतिबद्ध है और यहां विकासात्मक गतिविधियों के लिए विशेष कार्यबल का गठन करेगा. इसके साथ ही जियों की तरह शुरू होने वाले इन्टरनेट के प्लान के बारे में बताया. अम्बानी ने बताया क होम ब्रॉडबैंड सर्विस जियो गीगाफाइबर के साथ ग्राहकों को 1GBPS तक की ब्रॉडबैंड स्पीड, लैंडलाइन फोन, अल्ट्रा हाई डिफिनिशन इंटरटेनमेंट, वर्चुअल रियलिटी कंटेंट, मल्टी-पार्टी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, वॉयस इनेबल्ड वर्चुअल असिस्टेंट, इंटरेक्टिव गेमिंग, होम सिक्योरिटी और स्मार्ट होम सॉल्यूशन्स मिलेंगे..

मुकेश अंबानी के इस कदम से सिर्फ मुकेश अम्बानी को कारोबार में ही फायदा नही होगा बल्कि इससे भारत के विदेशी सम्बन्ध भी मज़बूत होंगे और भारत कूटनीतिक स्तर पर मजबूत होगा वही जम्मू कश्मीर और लद्दाख में निवेश करने से भी वहां के लोगों के लिए फायदेमंद ही  साबित होने वाला है.