खाना बांटने के नाम पर मजदूरों को यूपी बॉर्डर ला कर छोड़ रहा था ये कांग्रेसी नेता, दिल्ली पुलिस ने लिया हिरा’सत में

748

कोरोना का’ल में कांग्रेस पार्टी राजनीति करती आ रही हैं. कांग्रेस की नियत में ओछी राजनीति ही करना हैं. ऐसा ही कुछ कांग्रेस ने किया भी हैं दिल्ली के अंदर. दिल्ली  कांग्रेस चीफ अनिल चौधरी ने मजदूरों को लेकर एक बहुत ही अशो’भनीय कदम उठाया हैं और उसके बाद कांग्रेस सत्ता पर काबिज भाजपा को लेकर सवाल खड़े करती है. लेकिन असली में मजदूरों को लेकर राजनीति अगर कोई कर रहा हैं तो वो कांग्रेस पार्टी ही हैं.

कांग्रेस पार्टी के दिल्ली के चीफ अनिल चौधरी ने मजदूरों को कल और आज सुबह प्रवासी मजदूरों को गाड़ियों में भरकर अनील चौधरी और कांग्रेस के कार्यकर्ता दिल्ली और यूपी बॉर्डर ले गए ताकि उन मजदूरों को बॉर्डर पार कराया जा सके. इससे एक तस्वीर साफ़ हो गई है कि कोरोना सं’कट में भी कांग्रेस पार्टी कितनी गिरी हुई राजनीति कर रही हैं. उसके बाद आ’रोप लगता हैं बीजेपी के उपर की केंन्द्र सरकार मजदूरों पर ध्यान नहीं दे रही है. लेकिन कांग्रेस पार्टी अपने खुद के गि’रेबा’न में झांक नहीं रही हैं.

इसके बाद दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस के चीफ अनिल चौधरी को हि’रासत में ले लिया है और उनको उनके निवास स्थान पर ही एक तरह का न’जरब’न्द कर दिया हैं. इसके बाद अनिल चौधरी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ‘जब मैं सो कर उठा तो देखा कि मेरे घर एसएचओं पहुंचे और उन्होंने बताया कि मुझे होम डिटेंन कर दिया गया हैं. उन्होंने कहा कि मुझे नहीं मालूम कि क्यों ऐसा किया गया है?’कांग्रेस पार्टी पहले गु’नाह भी करती और फिर अपना पल्ला भी बहुत आराम से झाड लेती है. और ऐसा लगता है कि कांग्रेस ने कुछ किया ही नहीं हैं.जबकि सब कुछ किया धरा कांग्रेस का ही है. मजदूरों को लेकर राजनीति करने का काम कांग्रेस ही कर रही हैं.