25 जिलों में अकेले नौकरी कर उत्तरप्रदेश सरकार को 1 करोड़ का चूना लगाने वाली महिला टीचर गिरफ्तार

6348

उत्तरप्रदेश में अभी हाल ही में फर्जीवाड़े का एक मामला सामने आया था जिसने सभी को चौंका दिया था. मामला ये था कि अनामिका शुक्ला नाम की महिला 25 जगहों पर नौकरी करके पिछले कई महीनों से सरकार से तनख्वाह ले रही है. इस खबर के आने के बाद इस महिला टीचर की तलाश शुरू हो गयी. बताया गया है कि ये महिला टीचर पिछले 13 महीनों में करीब 1 करोड़ रूपये की सैलरी ले चुकी है. अब इस महिला को लेकर बहुत बड़ी खबर आ रही है.

जानकारी के लिए बता दें उत्तरप्रदेश सरकार को चूना लगाने वाली अनामिका शुक्ला नाम की महिला टीचर को कासगंज जिले की सोरों पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. दरअसल अनामिका शनिवार को कासगंज जिले में त्याग पत्र देने आई थी. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची सोरोना पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है, जिसके बाद सोरों कोतवाली इंस्पेक्टर रिपुदमन सिंह का कहना है कि अनामिका पर 25 जिलों में फर्जी अभिलेखों से धोखाधड़ी कर नौकरी कर वेतन लेने का आरोप है.

कासगंज BSA अंजलि सिंह ने अनामिका शुक्ला के खिलाफ थाना सोरों में FIR लिखने की तहरीर दी है. अनामिका ने अपने पिता का नाम राजेश बताया है. वहीँ सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये भी बताया गया है कि पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद अनामिका ने बताया है कि वह वर्तमान में गोंडा से बीएड कर रही है. उसे नौकरी मैनपुरी के एक शख्स ने दिलवाई थी. जिसका नाम महिला ने राज बताया है. महिला टीचर से लगातार पूछताछ की जा रही है.

गौरतलब है कि आरोपी महिला टीचर अनामिका पर फर्जी तरीके से 13 महीने में सरकार से 1 करोड़ रूपये ठगने का आरोप है. अनामिका शुक्ला की पोस्टिंग अम्बेडकरनगर, प्रयागराज, सहारनपुर, बागपत और अलीगढ सहित अन्य जिलों में KGBV स्कूल में थी. बता दें इन स्कूलों में टीचर्स की नियुक्ति कॉन्ट्रैक्ट बेस पर की जाती है जिन्हें हर महीने 30 हजार रूपये तनख्वाह दी जाती है. टीचर्स का डाटाबेस तैयार करते वक्त अनामिका की सच्चाई सामने आई थी. अब वो पुलिस की गिरफ्त में हैं.