दिल्ली में हुई हिं-सा के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने विपक्ष पर सा-धा नि-शाना कहा- CAA से एक भी अल्प-संख्य-क और..

728

देश की राजधानी दिल्ली में पिछले कई महीनों से CAA को लेकर वि-रोध चल रहा था. अचानक से चल रहे इस वि-रोध ने कब हिं-सक रूप ले लिया कोई समझ ही नहीं पाया. सैंकड़ों की संख्या में लोग सड़-कों पर उतर आए और जमकर उ-त्पात मचाया. दिल्ली में हुई इस हिं-सा में अब तक कई लोगों की जा-न चली गयी है. उत्तर पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में अब अर्धसैनिक बलों की तैनाती शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए की गयी है.

जानकारी के लिए बता दें दिल्ली में पु-लिस और अर्धसैनिक बल के जवान लगातार फ्लैग मार्च कर लोगों से शांति बनाये रखने और घर में रहने की अपील कर रहे हैं. वहीं दिल्ली में हुए इस ब-वाल के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए बड़ा बयान दिया है. शुक्रवार को ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बसपा, लेफ्ट के साथ पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पर जोरदा-र ह-मला बोला.

अमित शाह ने भुवनेश्वर में कहा कि ये विपक्षी दल नागरिक-ता संशोधन अ-धिनियम CAA का वि-रोध कर झूठ फैला रहे हैं, ये लोग लगातार झू-ठ फैला रहे हैं कि CAA से मुस्लिमों की नागरि-कता चली जाएगी. उन्होंने कहा है कि ये सच्चाई नहीं है. अमित शाह ने साफ़ कहा है कि हम नागरिकता संशोधन अधिनियम CAA से एक भी मु-स्लिम और अल्पसंख्यक व्यक्ति की नाग-रिकता नहीं जानें देंगे.

गौरतलब है कि गृह मंत्री अमित शाह ने अपनी बात रखते हुए कहा कि CAA ना-गरिकता लेने का नहीं बल्कि नागरिकता देने का कानू-न है. उन्होंने कहा इस कानून के अंतर्गत उन लोगों को नागरि-कता दी जाएगी जो विभा-जन के दौरान पाकिस्तान, बंगलादेश और अफगानिस्तान में छूट गये हैं जोकि हिंदू, सिख, ईसाई, बौद्ध, पारसी और जैन समुदाय से आते हैं. उन्होंने जनता से ही सवाल करते हुए पूछा कि क्या इन देशों में उ-त्पीड़न के शिका-र हो रहे लोगों को नाग-रिकता नहीं दी जानी चाहिए? क्या उनके मान-वाधिकार को नहीं देखा जाना चाहिए? इसके जवाब में जनता ने भी हाँ कहा. CAA को लेकर फ़ैल रहे भ्र-म और झू-ठ को लेकर अमित शाह ने फिर एक बार साफ़ कर दिया है कि इससे किसी की ना-गरिकता नहीं जाएगी फिर भी लोग सड़कों पर उतरे हुए हैं.