चीन के खिलाफ महागठबंधन बनाने की तैयारी, इस अंतरराष्ट्रीय संगठन में भारत को शामिल करना चाहते हैं ट्रम्प

3649

एक तरफ चीन के साथ अमेरिका के रिश्ते अब तक के सबसे ख़राब दौर से गुजर रहे हैं वहीँ भारत और अमेरिका के रिश्ते नई ऊँचाइयों को छू रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प चाहते हैं कि विकसित देशों के संगठन G-7 में भारत समेत चार और देशों को शामिल किया जाए. जून के मध्य में G-7 की बैठक अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन में होने वाली थी लेकिन अब इसे सितम्बर तक के लिए टाल दिया गया है. अमेरिकी राष्ट्रपति चाहते हैं कि सितम्बर में जब ये बैठक हो तो इसमें भारत समेत चार और देशों को शामिल किया जाए क्योंकि इन चार देशों के बिना ये संगठन अधूरा है. ये चार देश विश्व की राजनीति को प्रभावित करते हैं.

ट्रम्प G-7 में भारत के अलावा, रूस, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया और रूस को शामिल किये जाने के इच्छुक है. इस वक़्त G-7 में अमेरिका के अलावा इटली, जापान, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, ब्रिटेन के साथ यूरोपियन यूनियन शामिल हैं. ट्रंप ने वर्तमान G7 फॉर्मैट को आउटडेटेड (पुराना) बताया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘मैं इस समिट को स्थगित कर रहा हूं क्योंकि मुझे ये नहीं लगता कि दुनिया में जो चल रहा है, उसकी ये सही नुमाइंदगी करता है. यह देशों का बहुत ही पुराना समूह हो गया है. इसमें अब कुछ नए देशों को शामिल करने की आवश्यकता है.’

फ़ाइल फोटो

वाइट हाउस के प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप अमेरिकी के दूसरे पारंपरिक सहयोगियों और कोरोना से प्रभावित कुछ देशों को इसमें लाना चाहते हैं. इस बैठकक में चीन को लेकर भी चर्चा होनी है. ऐसे में इस संगठन का दायरा बढ़ाये जाने की आवश्यकता है. इस वक़्त चीन के रिश्ते दुनिया के लगभग सभी देशों के साथ खराब है. ऑस्ट्रेलिया को उसने अमेरिका का पालतू कुत्ता कह दिया तो भारत के साथ सीमा पर उसने तनाव बढ़ा रखा है. कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका तो चीन पर इतना भड़का हुआ है कि उसने अपने यहाँ से चीनी नागरिकों को बाहर निकलने पर विचार करना शुरू कर दिया है.