दक्षिण चीन सागर में बढ़ रहे तनाव के बीच अमेरिका ने अपनी क्षमता को टेस्ट करने के लिए उड़ा दिया 6 बॉमर

कोरोना के चलते चीन और अमेरिका के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है. चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस ने इस समय पूरी दुनिया में हाहाकार मचा रखा है. इस वायरस ने अधिकतर देशों को अपनी गिरफ्त में ले लिया है. इस वायरस ने सबसे ज्यादा कोहराम अमेरिका में ही मचाया है जिसके चलते डोनाल्ड ट्रंप लगातार चीन पर आक्रामक हैं और कई बार ये कह चुके हैं कि अगर चीन ने ये वायरस जानकर फैलाया है तो उसे इसका अंजाम भुगतना पड़ेगा.

जानकारी के लिए बता दें अमेरिका लगातार चीन पर आरोप लगा रहा है कि चीन ने कोरोना को लेकर जानकारी छिपाई, अगर वो समय के चलते इस वायरस के बारे में दुनिया को आगाह कर देता तो आज ये हालात नहीं होते. वहीँ दक्षिण चीन सागर में चीन और अमेरिका के बीच हालात बिगड़ते जा रहे हैं. कई बार चीन अमेरिकी जहाजों पर आरोप लगाते हुए खदेड़ चुका है और कह चुका है कि वो चीन की सीमा में थे. वहीँ अमेरिका ने अब बड़ा कदम उठाया है.

अमेरिका ने युद्ध की परिस्थितियों में अपनी तैयारियों का टेस्ट करते हुए लंबी दूरी तक मारने वाले 6 बॉम्बर को उड़ाया है. सबसे ज्यादा हैरानी की बात ये है कि अमेरिका ने यह बॉमर यूएस स्ट्रैटेजिक कमांड ने यूरोपीय कमान और इंडो पैसिफिक कमान क्षेत्र में ऐसे वक्त में उड़ाए हैं जब दक्षिण चीन सागर में अमेरिका और चीन के बीच तनाव बढ़ा हुआ है. इतना है नहीं चीन ने भी अपने सैन्य शक्तियों का जाल बिछाना शुरू कर दिया है.

गौरतलब है कि दोनों ही देश जिस तरह अपनी शक्तियों का प्रयोग कर रहे हैं इस हिसाब से यही लगता है कि आने वाले समय में ये दोनों देश कभी भी सामने आ सकते हैं. दोनों ही देशों के बीच युद्ध हो गया तो हालात और बिगड़ सकते हैं. दुनियाभर में संभावित संकट और चुनौतीपूर्ण की स्थिति को देखते हुए अमेरिका ने अपनी तैयारियों को परखने के लिए ही बॉमर को उड़ाया है. वहीँ चीन दक्षिण चीन सागर पर ध्यान देते हुए सैन्य जाल बिछा रहा है जिसने अमेरिका को मुश्किल में डाल दिया है. वहीँ अमेरिका ने भी वहां अपने तीन बड़े युद्धपोत तैनात कर दिए हैं.